महिलाओं में गंजापन दूर करने के सुझाव

आजकल के समय पर महिला और पुरुष दोनों में सामान रूप से गंजेपन की प्रॉब्लम हो रही है। खान पान और लाइफ स्ट्रक्चर के कारण बाल झड़ने से गंजेपन की प्रॉब्लम हो रही है।

गंजापन को एलोपेसिया भी कहते है. जब बहुत तेजी से बाल झड़ने लगते है और नए बाल उतनी तेजी से उग नहीं या फिर बाद में उगने वाले बाल पहले के बालो की तुलना में अधिक पतले या कमजोर उगते है ऐसे में आगे जाकर गंजे होने की चान्सेस बढ़ जाती है।

Mahilao Me Ganjapan Door Karne ke Upay

 

महिलाओ में गंजेपन के कारण

महिलाओ में गंजेपन की प्रॉब्लम होर्मोनेस के इम्बैलेंस के कारण होती है. गर्भावस्था और मीनोपॉज के टाइम महिलाओ में सबसे ज्यादा होर्मोनेस में चंगेस होते है जिसके कारन गंजेपन की प्रॉब्लम होती है। लेकिन इसके अलावा कई और कारन भी है जो इसके लिए उत्तरदायी है।

बालो की जड़ो का कमजोर हो जाना पिट्यूटरी ग्लैंड (पियूस ग्रंथि) में होर्मोनेस की कमी , सर पर ज्यादा रुसी होना बालो की जड़ो को जरूरी पोषक तत्वा न मिलना गुस्सा करना मानसिक तनाव में रहना किसी विषय पर ज्यादा सोच-विचार करना अधिक गरम खाना बालो में बार-बार कंघी करना गीले बालो में कंघी करना बालो को हमेशा ढक कर रखना फुल नींद न लेना इन सबके कारण महिलाओ के गंजेपन का शिकार होती है।

महिलाओ में गंजापन दूर करने के उपाय

चाहे महिला हो या पुरुष गंजेपन के इलाज के लिए कई तरीके इलाज हो चुके है. और इन तरीको को आजमाकर आसानी से गंजेपन की प्रॉब्लम से छुटकारा मिल सकता है। गंजेपन की प्रॉब्लम को दूर करने के लिए महिलाये दो तरीको को आजमा सकती है undefined साइंटिस्ट और घरलू नुस्खे।

साइंटिस्ट (वैज्ञानिक) तरीके

हेयर ट्रांसप्लांटेशन

गंजेपन के इलाज के लिए यह सबसे अच्छा और आसान तरीका है. इस तकनीक के जरिये शरीर के एक हिस्से से हेयर फॉलिकल्स को लेकर सर में ट्रांसप्लांट किया जाता है। यह क्रिया दो तरह से अमल में लायी जाती है. एक होती है स्टॉप तकनीक और दूसरी होती है फॉलिक्युलर यूनाइट।

स्टेम सेल तकनीक

साइंटिस्ट ने स्टेम सेल के जरिये बालो को उगने का तरीका खोज निकला है। इस तकनिकी में त्वचा के नीचे पाए जाने वाले फैट सेल से बालो को नए सिरे से उगाया जा सकता है। इनमे मौजूद स्टेम सेल बालो को उगने में हेल्प करेंगे। इस तरके से उगाये गए बाल न सिर्फ नार्मल होंगे बल्कि देखभाल के हिसाब से भी आसान साबित होंगे।

लेजर ट्रीटमेंट

महिलाये एक तकनीक का सहारा लेकर गंजेपन का इलाज कर सकती है। लेजर ट्रीटमेंट से गिरते बालो और गंजेपन का उपचार किया जाता है। लेजर तकनीक में सर की ब्लड सेल एक्टिव होकर ब्लड का छीर-छुम तेज कर देती है। जिससे बालो को उगने में हेल्प मिलती है।

हेयर विंग

यह ऐसी तकनीक है जिसके जरिये नार्मल बालो को या सिंथेटिक हेयर को खोपड़ी के उस भाग पर विव कर दिया जाता है झा गंजापन है। इसके लिए आमतौर पर हेयर कटाई करने के बाद जो बाल मिलते है उनको हेयर मैन्युफैक्चरर के जरिये विंग के काम में उसे किया जाता है।

बालो को झड़ने से रोकने के घरलू उपचार

  • मेथी को पूरी रात भिगो दीजिये फिर सुबह उसे गाढ़ी दही में मिलकर अपने बालो और जड़ो में लगाइये. बालो को धो ले इससे रुसी और सर की त्वचा के विकार समाप्त होंगे। मेथी में निकोटिनिक एसिड और प्रोटीन पाया जाता है जो बालो की जड़ो को पोषण पहुंचता है और बालो की ग्रोथ भी बढ़ता है।
  • उड़द की दाल को उबाल कर पीस लीजिये रात को सोने से पहले इस लैप को सर पर लगाइये। कुछ दिनों तक करते रहने बाल उगने लगते है और गंजापन समाप्त हो जाता है।
  • थोड़ी सी मुलेठी लेकर दूध की कुछ बुँदे डालकर उसे पीस लीजिये फिर उसमे चुटकी भर केसर डालकर उसका पेस्ट बनाइये. इस पेस्ट में सोने से पहले सर पर लगाइये।
  • हरे धनिये का पेस्ट बनाकर जिस जगह पर बाल उड़ गए है वह लगाइये। कुछ दिनों तक लगाने से बाल उगने लगते है।
  • केले का गूदा निकलकर उसे निम्बू के रूस में मिलकर सर पर लगाने से बालो के झड़ने की प्रॉब्लम काम होती है और बाल फिर से उगने लगते है।
  • प्याज को काटकर उसके दो हिस्से कर लीजिये। जिस जगह के बाल झाड़ गए हो वह पर आधे प्याज को 5 मिनट तक रोज रगड़े. बाल झड़ना बंद होगा ही साथी ही साथ बाल फिर से उगने लगेंगे।

यह पढ़े:

महिलाये अपने खान-पान पर ध्यान दे तो गंजेपन की प्रॉब्लम काम ही होगी। खाने में ऐसे फूड्स शामिल कीजिये जिनसे बालो को जरूरी पोषण मिलता हो। अगर इन तरीको को आजमाने के बाद भी गंजेपन की प्रॉब्लम से छुटका नहीं मिल रहा है तो एक बार डॉक्टर्स से संपर्क जरूर करे। नए बाल उगाने के लिए असरदार उपाय, आप यह भी पढ़ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here