संतरे के फायदे और नुकसान – Orange Benefits and Side-Effects in Hindi

ठंडे इलाकों में होने वाला रसीला फल संतरा खाने से बहुत सारे लाभ होते हैं। संतरा नारंगी, निम्बू और आंवले की तरह विटामिन सी का भरपूर स्रोत है। संतरे में न सिर्फ विटामिन सी पाया जाता है बल्कि इसके अलावा इसमें विटामिन ए, विटामिन बी, फॉस्फोरस, कैल्शियम, प्रोटीन और ग्लूकोज़ अच्छी मात्रा में पाया जाता है। संतरा न सिर्फ भारत में ही बल्कि पुरे विश्व में पाया जाने वाला फल है। संसार में अलग-अलग जगहों में भांति-भांति के संतरे पाए जाते हैं। यह हमारे शरीर को फिट तो रखता ही साथ ही कई सारी बीमारियों को भी दूर भगाता है। यह गर्मियों में शरीर को तरोताजा करने के काम आता है और सर्दियों में शरीर को एनर्जी देने में काम आता है। संतरे के जूस पीने से हमारे शरीर को बहुत सारे फायदे हैं। आइये जानते हैं संतरा खाने के फायदे और नुकसान – Orange fruit (Santra) Benefits and Side effects in Hindi. संतरा को हम जूस बनाकर उसके रस को पी सकते हैं इसके अलावा संतरे के छिलके आयुर्वेद में जड़ी-बूटियों को बनाने के लिए काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इनके छिलके जितने कड़वे होते हैं उतने ही बिमारियों को दूर भागने में मददगार होते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको केवल संतरे खाने के फायदे बताएँगे।

के फायदे और नुकसान Orange Benefits and Side Effects in Hindi
संतरा खाने के चमत्कारी स्वास्थ्य लाभ

संतरे के फायदे – Santra Khane Ke Fayde in Hindi

कैंसर से बचाये

संतरे में मौजूद साइट्रस लिमोनोइएड्स कई प्रकार के कैंसर से लड़ने में मदद करता है। विटामिन सी की मौजूदगी के कारन यह एंटी-ऑक्सीडेंट का अच्छा खाशा स्रोत है, जो शरीर को हानिकारक फ्री रेडिकल्स सेल्स से बचता है। पशु और मानव कोशिकाओं के परीक्षणों में, शोधकर्ताओं ने साबित कर दिया कि संतरा मुंह, त्वचा, फेफड़े, स्तन, पेट और बृहदान्त्र के कैंसर से लड़ने में मदद कर सकते हैं।

प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत करे

खट्टे फल वर्तमान समय में सेहत को स्वस्थ रखने के लिए शानदार तरीके हैं। इसका प्रमुख कारण है कि ये विटामिन सी से भरे होते हैं जो सफ़ेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में सहायक होते हैं जिनके जरिये बहुत सी बिमारियों का निवारण आसानी से हो जाता है जिनमे se वायरस, वैक्टीरिया प्रमुख हैं। संतरे में विटामिन ए, फोलेट और तांबे, पोषक तत्व होते हैं जो टिप-टॉप आकार में आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने में विटामिन सी की सहायता करते हैं।

गुर्दा की पथरी कम करने में मदद करे

संतरे में पाए जाने वाला साइट्रिक एसिड पेशाब से समन्धित और गुर्दे में होने वाले पथरी के लिए रामबाण इलाज है। एक हालिया अध्ययन से पता चला है की संतरे का रस दर्दनाक गुर्दे के पथरी को रोकने में कामयाब है। संतरे में पाए जाने वाला उच्च स्टार के पोटेशियम गुर्दे से हानिकारक मुक्त कानो को बहार करने में मददगार होता है जिससे पथरी जैसी समस्या आसानी से दूर होती है।

हृदय के लिए लाभकारी

जिन लोगों में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है उनके लिए संतरा खाना बहुत फायदेमंद होता है। संतरे में पाए जाने वाले पोटेशियम, फोलिक एसिड, कैल्सियम कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल में रखते हैं। संतरे में पाए जाने वाला फ्रुक्टोज, डेस्क्टरोज जैसे मिनरल्स शरीर में एनर्जी बढ़ाते हैं जो दिल और दिमाग को नयी ताजगी प्रदान करते हैं। दिल के रोगी के लिए संतरे के जूस में शहद मिलकर पीला दें तो बहुत फायदा होता है।

दांतों को करे रोगरहित और मजबूत

संतरे में मौजूद विटामिन A और विटामिन सी दांतों में रोग लगने से बचता है इससे आपके दांतों पर कोई भी कीड़ा नहीं लग सकता है। इसके सेवन से दांत और मसूड़े मजबूत होते हैं। अगर आपके दांत या मसूड़े में कोई समस्या है तो आप रोजाना संतरे का सेवन करे कुछ ही दिनों में आपको रहत दिखनी लगेगी।

संतरे के फायदे अल्सर में

न सिर्फ संतरा पेट के कैंसर को रोकता है बल्कि यह पेट में दर्द से पीड़ित अल्सर को रोकने में मदद करता है। पेट का अल्सर पीड़ादायक घाव है जो पेट और पाचन क्रिया के साथ हानिकारक प्रभाव डालता है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ़ न्यूट्रिशन के जर्नल में एक अध्ययन में पाया गया कि विटामिन सी में उच्च आहार वाले लोग विटामिन सी की कमी वाले लोगों की तुलना में अल्सर से काम प्रभावित थे। एक नारंगी विटामिन सी का 89% तक होता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

उम्र बढ़ते ही आदमियों में झुर्रियां होनी शुरू हो जाती हैं जिनके लिए संतरे में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट काफी प्रभावी होता है। संतरे का रस और छिलका स्किन पर होने वाले दाग-धब्बों और मुहांसे को दूर करने में काफी मददगार होता है। इसके इस्तेमाल से आप अपनी त्वचा को गोरा और मुलायम बना सकते हैं।

उच्च रक्तचाप को कम करने में

संतरे में पाया जाने वाला हेपरिडीन फ्लैवनोन उच्च रक्तचाप को कम कर सकता है। चेतावनी का एक शब्द: यदि आप इस फ़िऑनट्रियटिस के कार्डियोवस्कुलर लाभ चाहते हैं, तो अपने संतरे का रस न लें। हरपरिडिन आंतरिक नारंगी मांस और बाहरी त्वचा के बीच सफेद मार्जिन भाग में स्थित है।

Blood Sugar को Control करे

संतरा फीवर का अच्छा स्रोत है जिस वजह से यह शुगर को फ्रुक्टोज में परिवर्तित कर देता है। संतरा मीठे होने के बापजूद शुगर लेवल को कण्ट्रोल करके दिअयबीटीएस के मरीजों के लिए अच्छा असरदार घरेलु उपचार है।

पेट के रोगों को दूर भगाये

अगर आपके पेट में गैस, कब्ज या अपच की समस्या है तो आप संतरे का इस्तेमाल करें यह इन समस्यों के लिए रामबाण इलाज है। संतरे में मौजूद फीवर और साइट्रिक एसिड पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में सहायक होते हैं। fiver पाचन तंत्र को बढ़ावा देता है और पेट से समन्धित बिमारियों से रहत देता है। अगर आपका पेट ख़राब है तो आप संतरे के रस में थोड़ा बकरी का दूध मिला लें और पी जाएँ तुरंत ही आपका पेट सही हो जायेगा।

ऑरेंज बेनिफिट्स टेंशन से दे राहत

संतरे में पोटेशियम सही मात्रा में होता है जो दिमाग को ऑक्सीजन सही मात्रा में प्रदान करता है जिससे मन शांत और दिमाग टेंशन मुक्त होता है। एक गिलास संतरे का जूस तन और मन दोनों को शीतलता पहुँचता है।

बवासीर में लाभकारी

बवासीर वाले रोगियों के लिए संतरे का जूस बहुत ही फ़ायदेमंग होता है। जिन्हे बवासीर है उन्हें भोजन के पश्चात आधा गिलास संतरे का जूस प्रतिदिन पीना चाहिए इससे बवासीर और पेट का अल्सर ठीक हो जाता है। इसके अलावा आप संतरे के छिलकों को सुखाकर बारीक़ पीस लें और उसमे घी बराबर मात्रा में मिलकर दिन में 3 बार 1 चमच्च पि लें। कुछ ही दिनों में आपको बवासीर से मुक्ति मिलनी शुरू हो जाएगी।

संतरे खाने के नुकसान – Santra Khane Ke Nuksan in Hindi

  • संतरे का अधिक सेवन अधिक फाइबर सामग्री पाचन को प्रभावित कर सकता है, जिससे पेट की ऐंठन और दस्त जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • रात के समय में संतरा भूलकर ना खाएं।
  • हार्टबर्न के लोगों को संतरा नहीं खाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि संतरे में एसिड की मात्रा पाई जाती है, जो हार्ट के लिए नुकसानदायक होती है।
  • जिन लोगों के गुर्दे अच्‍छी तरह से काम नही करते है उन्‍हें ज्‍यादा पोटेशियम का उपभोग नहीं करना चाहिए।
  • संतरे में मौजूद फाइबर पाचन क्रिया को प्रभावित करता है। इसलिए ज्यादा संतरा नहीं खाना चाहिए।
  • जो लोग बीटा ब्लॉकर्स दवाईयों का सेवन कर रहे हैं वे बहुत अधिक संतरे का उपभोग ना करें।
  • प्रेग्नेंसी और ब्रेस्ट फीड कराने वाली महिलाओं को भी पर्याप्त मात्रा में ही संतरा खाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here