दांत के कीड़े के इलाज का घरेलू उपचार – Dant ke Keede ka Ilaj

दांत के कीड़े का घरेलू इलाज (Dant ke Keede ka Ilaj) बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आपने इस कीड़े सही समय पर उपचार नहीं किया तो आपके दांतों को नुक्सान हो सकता है। हम आपको जो भी दांतों के कीड़े के लिए घरेलु और देसी उपचार बताएँगे जो घरेलु उपाय और नुस्खे में काफी उपयोगी होते हैं जिनके इस्तेमाल से आपको कोई भी साइड इफ़ेक्ट भी नहीं होंगे। ये दांत के कीड़े की दवा में काफी असरदार होते हैं। दांत के कीड़े को जड़ से मिटाने के लिए अगर आपको प्राकृतिक आयुर्वेदिक उपचार से कोई लाभ नहीं मिले तो आप नजदीकी डॉक्टर से इसका treatment जरूर करवाएं। क्यूंकि दांत में कीड़ा पड़ने से दांत धीरे-धीरे कमजोर हो जाते हैं और बीमारी से ग्रसित हो जाते हैं। जानिए दांतों में कीड़े के लक्षण, कारण, इलाज, दवा एवं घरेलू उपचार Home Remedies for Tooth Worms in Hindi..

Dant-Ke-Keede-ka-Gharelu-Ilaj-in-Hindi-Dant-ke-Keede-Ka-aayurvedic-Upchar

दांतों में कीड़े के लक्षण

दांतों में कीड़े लगने के संकेत व लक्षण भिन-भिन प्रकार के होते हैं जो कि उसकी सीमा और जगह पर निर्भर करते हैं। कैविटी के शुरूआती स्तर पर लक्षण मिलना अनिवार्य नहीं हैं। जैसे ही सड़न बढ़ती जायेगी, वह संकेत और लक्षण दिखने शुरू हो जाएँगे

  • दांतों में दर्द, स्वाभाविक दर्द या ऐसा दर्द जो बिना किसी कारण हो।
  • दांतों में झनझनाहट।
  • मीठा, गरम या ठंडा खाते या पीते वक़्त हल्के से तेज़ दर्द होना।
  • दांतों में छेद और गड्ढे दिखाई देना।
  • दांतों की सतह पर काले, भूरे और सफ़ेद रंग के दाग दिखाई देना।
  • चबाते वक़्त दर्द होना।

दांतों में कीड़े लगने के कारण

अगर प्लाक को दांतों पर से ना हटाया जाए तो वह एक तरह का पदार्थ बनाते हैं जिसे टार्टर कहतें हैं। प्लाक और टार्टर मिलकर मसूड़ों को परेशां करते हैं, जिसकी वजह से गिंगिविटीज़ और पेरिओडोन्टीटीएस हो जाता है।

खाना खाने के 20 मिनट के अंदर दांतों पर प्लाक बनना शुरू हो जाता है। अगर इसे न हटाया जाए तो दांतों में सड़न शुरू हो जाती हैं। एसिड जो की प्लाक में मिला होता है हमारे दांतों की कवरिंग (इनेमल) को नष्ट कर देता है और उसमें गड्ढे बना देता है। कैविटी आमतौर पर परेशान नहीं करती है, लेकिन जब वह बड़ी होती है, वह नसों को प्रभावित करती है जिससे की दांत खराब हो जाता है। अगर कैविटी का इलाज ना कराया जाए तो दांतों में फोड़ा भी हो सकता है। और अगर सड़न का इलाज ना कराया जाए, तो दांतों की भीतरी सतह को नुक्सान पहुँचता है जिसके कारनाप दांत खो सकते हैं।

कार्बोहायड्रेट (स्टार्च और शुगर) दांतों में कीड़े लगने के जोखिम को बढ़ा देतें हैं। चिपचिपा खाना हानिकारक हो सकता है क्योंकि यह दांतों पर रह जाता है। बार बार खाने से दांत की सतह की अम्ल के संपर्क में आने की सम्भावना बढ़ जाती है

दांत के कीड़े का देसी घरेलू उपचार – Dant ke Keede ka Ilaj

दांत हमारे शरीर के अहम् भाग हैं इनके बिना हम किसी भी भोजन को नहीं खा सकते हैं। भोजन ग्रहण करने के अलावा दांत हमारे चेहरे की सुंदरता को भी चार-चाँद लगते हैं।

दांत में कीड़ा लगा हो या नहीं लेकिन दांतों की अच्छी से सफाई होना बहुत जरूरी है। खाना खाने के बाद दांतों को अच्छी तरह से साफ़ कर लें नहीं तो खाने के कुछ टुकड़े दांतों की जड़ों में फंस जाते हैं यही दांतों में गदगी और कीड़े की समस्या होती है। कीड़े लगने की वजह से दांत अंदर ही अंदर खोखले हो जाते हैं और मसूड़े ढीले पद जाने से दांत टूट जाते हैं। आइये जानते हैं ऐसे कुछ बेहतरीन घरेलु इलाज जिनकी मदद से आप दांत के कीड़े को जड़ से मिटा सकते हैं।

लौंग की मदद से दांत के कीड़े का उपचार

दांत के कीड़ों को हटाने में लौंग आयुर्वेद में काफी उपयोगी माना जाता है। आइये जानें किस प्रकार इसका उपयोग करें।

  • 3-4 लौंग के टुकड़े लेकर इन्हे बारीक पीस लें फिर इस पाउडर को कीड़े से ग्रसित दांत की जड़ पर लगाएं और अपना मुँह 10 मिनट तक बंद ही रखें मुँह में बनने वाली लार को भी दांत पर ही लगाए रखें थूंके नहीं।
  • लौंग के तेल को रुई से अपने कीड़े वाले दांत पर लगाएं यह एक असरदार इलाज है इसे अपने मुँह में जब तक जब चाहे रख सकते हैं बस रुई में लौंग का तेल अच्छे से भीगा होना जरूरी है।

दांतों में कीड़े लगने का घरेलू उपाय प्याज

प्याज दांत के कीड़े को दूर करने का एक अच्छा घरेलु नुस्खा है यह दांतों को सही और मजबूत करने में भी असरदार है। प्याज के इस्तेमाल से दांतों में होने वाली कमजोरी और परेशानी दूर हो जाती है। इसे प्राकृतिक औषधि का दर्जा भी दिया गया है। इसके लिए आप कच्चे प्याज को खा सकते हैं इसके अलावा प्याज के रस को कीड़े वाले दांत में लगाएं।

दांत के कीड़े का नीम से करें इलाज

नीम दांत के लिए सबसे बेहतर घरेलु उपचार है इसमें कई तरह के गुण होते हैं जो बैक्टीरिया को मरने में सक्षम होते हैं इसे प्राचीन काल से ही दांत साफ़ करने के उपयोग में किया जाता था। इससे बने दातुन में कई रोगों से लड़ने की क्षमता होती है। इसलिए रोजाना नीम की टहनी से दांतों की सफाई करें या फिर इसके पत्तों के रूस को रुई के जरिए कीड़े वाले दांत पर लगाएं। इससे आपके दांत मजबूत होंगे साथ ही दांतों से पीलापन दूर होगा।

सरसों के तेल से नहीं होगा दांत में दर्द

सरसों के तेल में कई औषधीय गुण होते हैं जो दांतों को सड़ने और पीलेपन से बचाता है। यह कई शारीरिक दर्द दूर करने के काम आता है। दांत के कीड़े से बचने और दर्द से राहत पाने के लिए आप रोजाना शुबह सरसों के तेल और सेंधा नमक को मिलाकर दांतों की सफाई करें। इससे कीड़ा भी मर जायेगा और दांत भी सफ़ेद चमकने लगेंगे।

इसके अलावा आप सेंधा नमक में थोड़ा हल्दी पाउडर और सासों का तेल मिलाएं और इसके पेस्ट से अपने दांतों को साफ़ करें इससे आपको काफी राहत मिलेगी।

दांतो में कीड़े से बचाव करे हींग

हींग में मौजूद तत्व दर्द करने वाले बैक्टीरिया को ख़त्म करता है और आराम देने में सहायक होता है। अगर आप दांत के कीड़े से हमेशा के लिए बचना चाहते हैं जो आपको हींग का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके लिए आप हींग और नीबूं के रस को मिलकर पेस्ट बनायें फिर इस रस को रुई से भिगोकर अपने दांत की जड़ पर लगाएं। ऐसा करने से कुछ समय में आपको दर्द से राहत मिलेगी और कीड़ा दूर होने लगेगा।

दांत के कीड़े को दूर करे लहसुन

दांत के कीड़े की समस्या को दूर करने के लिए लहसुन एक असरदार घरेलू तरीका है। इसके एंटीबायोटिक गुण दांत के कीड़े और दांत दर्द की समस्या को दूर करने में सक्षम हैं। इसके उपयोग करने के लिए आप रोजाना लहसुन की २ कलियों को चबाएं और लार को दांत के जड़ में लगाए रखें बाहर नहीं थूंके। इससे आपको काफी राहत मिलेगी।

इसके अलावा लहसुन की काली में सेंधा नमक मिलाकर आप इसे और प्रभावशाली बना सकते है।

हींग करे दांत के कीड़े को ख़त्म

हींग भी दांत के कीड़े से राहत पाने का एक अच्छा असरदार नुस्खा है। इसके लिए आप हींग को गर्म पानी में डालकर उबालें और अच्छे से उबालने के बाद जब पानी ठंडा हो जाये तो कुल्ला करें। हींग के कुल्ले करने से दांत के कीड़े का आयुर्वेदिक घरलू उपचार होता है और कीड़े को मारना आसान हो जाता है।

दांत के कीड़े से बचने की ध्यान रखने वाली बातें – Tips for Teeth Care in Hindi

  • रोजाना दांतों को ठीक तरह से साफ़ करें।
  • ज्यादा मीठा खाने से बचें।
  • सुबह शाम ब्रश जरूर करें
  • कैल्शियम और प्रोटीन युक्त भोजन करें, क्यूंकि ये दांतों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।
  • आम के ताजे हरे पत्ते चबाएं।
  • हल्दी और भुनी हुयी फिटकरी के पाउडर का मंजन करने से दांत दर्द में राहत मिलती है।
  • दांत में तेज दर्द होने पर नमक के पाने से गरारे गरें।
    नीम के तने से टांगों को रगड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here