चना दाल के औषधीय गुण, लाभ एवं फायदे – Chana Dal Benefits in Hindi

दालों में चने की दाल के अपने फायदे हैं। यह स्वास्थ्यवर्धक होने के साथ-साथ शरीर को शक्तिशाली भी बनाता है। यह श्रम करने वाले व्यक्तियों के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है। अपने गुणकारी पौष्टिक तत्वों से भरपूर चना दाल हमारी बॉडी के ग्रोथ के लिए बहुत लाभकारी होता है इसे खाने से एनर्जी मिलती है। इसमें प्रोटीन और विटामिन जैसे कई खाद्य पदार्थ मौजूद होते हैं। चने दाल को लेकर कई लोगों के मन में सवाल उठाते हैं की इसके सेवन से पेट में दर्द या गैस की समस्या होती है लेकिन ये सब फजूल की बातें हैं। आप चने दाल के स्वास्थ्य लाभ जानेंगे तो आप इसका सेवन ज्यादा करेंगे। आइये जानते हैं चना दाल के औषधीय गुण, लाभ एवं फायदे – Chana Dal Benefits in Hindi.

चने की दाल के फायदे – Chane Ki Daal Ke Fayde in Hindi

चने दाल में प्रचुर मंत्र में कैलोरी, फाइबर, प्रोटीन और फैट होता है। इसमें प्रोटीन, नमी, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम और विटामिन्स पाये जाते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं। चने की दाल का सेवन करने के लिए आपको रात को चने भिगोकर खाने चाहिए या फिर आप अंकुरित चने का सेवन करें ये हमारे शरीर को ज्यादा ताकतवर और स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं।

पीलिया में फायदेमंद

चने की दाल के सेवन से पीलिया रोग में काफी फायदा मिलता है। इसके लिए आपको चने की 100 ग्राम दाल में दो गिलास पानी डालकर अच्छे से चनों को कुछ घंटों के लिए भिगो लें और फिर दाल को अलग कर लें। अब उस दाल में 100 ग्राम गुड़ मिलकर 4 से 5 दिन तक रोगी को देते रहें। कुछ ही समय में आपको फर्क नजर आने लगेगा।

आयरन की कमी दूर करे

शरीर में आयरन की कमी को पूरा करने के लिए चने के दाल का सेवन बहुत जरूरी है। इसमें मौजूद फास्फोरस और आयरन नयी रक्त कोशिकाओं को बनाने में सहायक होते हैं और साथ ही हीमोग्लोबिन के स्तर को भी बढ़ाते हैं जिससे अनीमिया की संभावना कम हो जाती है। इसमें मौजूद एमिनो एसिड शरीर की कोशिकाओं को मजबूत करने में सहायक होते हैं।

शरीर में ऊर्जा बनाये रखे

चने की दाल में मौजूद प्रोटीन, कैल्शियम, फोलेट, ज़िंक जैसे महत्वपूर्ण पौष्टिक पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर को शारीरिक और मानसिक रूप से जरूरी ऊर्जा देकर मजबूती देते हैं। इससे हमारी बॉडी को किसी भी प्रकार की ऊर्जा की कमी नहीं रहती है।

कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करे

शरीर में जितना कम मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होगा बिमारियों का आगमन उतना कम होगा। चूँकि चना दाल में फाइबर की मात्रा अधिक होती है जिससे यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होता है। इसके नियमित सेवन करने से वजन में कमी भी आती है।

डायबिटीज रोग में सहायक

डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए चने की दाल का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। इसमें ग्लाइसमिक इंडेक्स नमक तत्व होता है जो खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करता है साथ ही शरीर में ग्लूकोज की अतिरिक्त मात्रा में कटौती करता है। इससे डायबिटीज के मरीजों को फायदा मिलता है।

पाचन को स्वस्थ रखने में मदद

चने की दाल के सेवन से हमारी प्रतिरक्षा पणाली मजबूत रहती है। यह कई रोगों से हमारे शरीर को बचाता है। इसके सेवन से पेट की समस्याएं जैसे पेट में दर्द, अपच और गैस की समस्या दूर हो जाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here