त्रिकोणासन योग कैसे करें विधि एवं फायदे – Trikonasana Yoga Steps in Hindi

ग़लत जीवन-शैली, ख़ान-पान के चलते वजन का बढ़ना आम बात है। आजकल हर कोई अनचाहे पेट के बढ़ने से परेशान है। अक्सर ज़्यादातर लोगों के शरीर में चर्बी बढ़ने से मोटापा का निवास होने लगता है। देखा जाए तो वजन बढ़ने पर हमारी कमर और पेट ज़्यादा एक्टिव होते हैं। आज हम आपको त्रिकोणासन के बारे में बताएँगे। त्रिकोणासन योग को करते टाइम शरीर का शेप त्रिकोण होता है, इसलिए इसे त्रिकोणासन कहते है। इस आसान में शरीर में अलग-अलग 3 कोण बनते हैं। इस आसन को आप नियमित करते रहेंगे तो बहुत जल्दी आपके पेट की चर्बी कम होने लगेगी। तो चलिए आपको बताते है त्रिकोणासन योग कैसे करें विधि एवं फायदे – Trikonasana Yoga Steps in Hindi एवं इसे करते समय कौन-सी सावधानियां रखनी चाहिए। Trikonasana Yoga Skin ko fit rakhne ke liye

त्रिकोणासन योग विधि – Trikonasana Yog Steps in Hindi

Step 1: सबसे पहले आप खड़े हो जाएँ, फिर अपने पैरों को 1 मीटर की दूरी तक फैलाए और अंदर की ओर साँस लें।

Step 2: अपनी दोनो भुजाओं को कंधे की सीध में ले जाएँ।

Step 3: फिर कमर से आगे की ओर झुकें और इसी बीच साँस को छोड़े।

Step 4: अब बाए हाथ से दाएं पैर के पंजे को छुएं और दूसरा हाथ आसमान की ओर रखें। इस अवस्था में 2-3 सेकेंड तक रुकें।

Step 5: फिर शरीर को सीधा रखें। साँस भरते हुए उप्पर उठें।

Step 6: अब दोबारा इसी विधि को दूसरे हाथ से करें। कम से कम 5-6 बार इस आसान का अभ्यास करें।

त्रिकोणासन योग से लाभ – Trikonasana Benefits in Hindi 

  1. इस आसान को करने से आपके पेट पर जमी अनावश्यक चर्बी कम होने लगती है देखते ही देखते आपका मोटापा कम होने लगता है।
  2. एसिडिटी से छुटकारा मिलता है।
  3. चिंता, तनाव कम होता है। मन में नई उमंग आती है।
  4. रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आने लगता है।
  5. तेज गति से इसका अभ्यास करने से पूरे शरीर का एक्सर्साइज़ होता है।
  6. जाँघ, घुटने और टखने मजबूत होते हैं।
  7. प्रजनन पार्ट्स में सुधार और बांझपन को दूर करता है।
  8. शरीर को संतुलित करता है।
  9. पाचन तंत्र को बल मिलता है। कब्ज, गैस और डाइबिटीज़ को दूर करने में हेल्प मिलती है।
  10. नियमित एक्सर्साइज़ से आपके गर्दन, पीठ, कमर और पैर के सभी हिस्से मजबूत होते हैं।

त्रिकोणासन में सावधानियां

  • Low BP, High BP, गर्दन, पीठ में दर्द वाले लोग इस आसन को न ही करें।
  • इस आसन को करते समय अगर आपका सिरदर्द, चक्कर आना, पीठ दर्द जैसी समस्या हो तो तुरंत डॉक्टर या योगा ट्रेनर की सलाह लें।
  • जिन लोगों की पेट की सर्जरी हुई हो वो लोग इसे नही करें।
  • अगर आपको slip dicks की दिक्कत है तो भी आप इस आसान को करने से बचें। साइटिका पाईं के मरीजों को भी इस आसान को करने से बचना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here