सफेद दाग के लक्षण, कारण, घरेलू इलाज – Safed Daag Treatment In Hindi

Safed Daag Treatment In Hindi: सफेद दाग जिसे मेडिकल भाषा में लेउकोडर्मा कहा जाता है। शरीर के किसी भी हिस्से पर सफ़ेद दाग होने से शरीर की खूबसूरती पर दाग लग जाता है। किसी पर तो एक ही जगह पर सफ़ेद दाग बना रहता है और किसी का तो बढ़ता ही जाता है और पुरे शरीर पर फैलने लगता है। भारत मे 2 फीसदी आबादी एक समस्या से परेशान है। शरीर पर सफ़ेद दाग होने से मरीज को काफी शर्म महसूस होती है और उसका आत्मविश्वास काफी कम हो जाता है। बहुत से लोग सफ़ेद दाग को हटाने के लिए क्रीम या दवा का इस्तेमाल करते हैं जोकि काफी नुकशानदयाक होते हैं इसलिए आज हम आपको सफ़ेद दाग के घरेलू उपचार और देसी आयुर्वेदिक घरलू नुस्खे बताने जा रहे हैं जिनसे सफ़ेद दाग का इलाज आसानी से हो जायेगा। आइये जानते हैं Safed Daag Treatment In Hindi.

Sharir se Safed Daag Ka Gharelu Ilaaj सफ़ेद दाग का घरेलु इलाज

सफेद दाग के लक्षण – Symptoms of white spots in Hindi

सफ़ेद दाग शुरुवात में कई कारणों से होता है, लेकिन इसके लिए प्रमुख रूप से ज़िम्मेदार हमारे शरीर में पाए जाने वाली रोग प्रतिरोधक क्षमता के effect के कारण milenosaits नाम के सींक का रंग बनाने वेल कोशिका का लगातार घटने की प्रक्रिया के कारण को माना जाता है।

  • सफ़ेद दाग का शुरुवाती लक्षण में त्वचा का रंग फीका पड़ना और उस जगह पर बाल भी सफ़ेद होने लगता है।
  • यह बीमारी लोगो मे हेरेडिटरी रूप से भी लोगो मे हो सकता है। जिनके लिए उनके गेने में पाए जाने वाले दोष ज़िम्मेदार होते है। कई बार मेडिसिन के साइड एफेक्ट से भी सफेद दाग देखने को मिलते है।

सफ़ेद दाग होने के कारण – Due to white spots in Hindi

कई बार शरीर की प्रतिरक्षा ख़राब होने के कारण त्वचा का रंग बनाने वाली कोशिकाएं धीरे-धीरे मरने लगती हैं जिससे छोटे-छोटे सफ़ेद दाग होने शुरू हो जाते हैं इसके अलावा भी सफ़ेद दाग क्यों और कैसे होते हैं उसके कारण नीचे दिए जा रहे हैं।

  • लिवर की समस्या
  • जेनेटिक समस्या
  • पाचन तंत्र में खराबी
  • शरीर में कैल्सियम की कमी
  • जलने या चोट लगने से
  • मांस, मछली के साथ दूध का सेवन करने से

सफेद दाग का इलाज के आसान घरेलू उपाय – Safed Daag Treatment In Hindi

Safed Daag Ka Gharelu Ilaaj - Best Ips Uchar

 अनार की पत्तियां

अनार के पत्तियों में कई तरह के रोगों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है इसकी पत्तियों में न्यूट्रियेंट्स की मात्रा अधिक मिलती है। जिससे लिवर, स्किन, पेट इत्यादि रोगो के उपचार से लाभ मिलता है।

विधि:-

  • सबसे पहले 1 या 2 मुट्ठी अनार की पत्तियों को तोड़ लें।
  • पतियों को अच्छे से पीस कर उसका पाउडर तैयार करें।
  • फिर 6 से 7 ग्राम उस पाउडर को एक ग्लास पानी के साथ पीए।
  • रोजाना दो बार इसके पानी को पीने से लाभ मिलता है।

सफेद दाग का घरेलू उपचार के लिए हल्दी

Haldi ke use se hamare skin ki chamak badh jati hai. yah hamare skin ke pigment ko healthy rakhta hai. so iska use se bhi safed daag se chhutkara pane me help milti hai.

विधि:-

  • सबसे पहले अपने ज़रूरत के अनुसार हल्दी के पाउडर लें।
  • आधे लीटर के बर्तन में पानी और हल्दी पाउडर को मिलाकर रात भर के लिए छोड़ दे।
  • शुबह उस हल्दी और पानी के मिश्रण को तब तक गर्म करें, जब तक उसका पानी सुखाकर चिपचिपा और लथपथ ना हो जाए।
  • फिर उस चिपचिपे घोल को दोबारा आधे लीटर सरसों के तेल मे तब तक गर्म करें जब तक बर्तन का पूरा भाग में तेल ही अधिक दिखाई दे।
  • अब उस तेल को सफेद दाग वाले भाग में लगाए।
  • इस प्रक्रिया को रोजाना दिन मे दो बार शुबह और शाम दोहराए.

नारियल तेल से

नारियल का तेल स्किन में हानिकारक जीवाणुओ को प्रवेश करने से रोकता है और यह हमारे शरीर में नए पिगमेंट को बनाने मे भी हेल्प करता है।

  • रोजाना दिन में 3 बार इस तेल से अपने शरीर की मसाज करें।

 तुलसी के पत्ते और नींबू का रस

तुलसी के पत्ते और नींबू का रस का कई रोगों को दूर करने मे इस्तेमाल किया जाता है। इन दोनों को मिलाकर पेस्ट बनाकर उसे सफेद दागो पर लगाने से सफेद दाग कम होने लगता हैं।

विधि:-

  • 1 कप नींबू का रस को निचोड़ लें और उसमे तुलसी के पत्ते से बने पेस्ट को मिक्स कर लें।
  • तैयार मिश्रण को सफेद दाग वाले भागों पर रोजाना 3 बार लगाए।
  • अच्छे परिणाम के लिए 5 से 6 महीना ऐसा करें।

सफेद दाग की क्रीम है लाल मिटटी

यह मिट्टी नदी-घाटियो में पाया जाता है। इस मिट्टी में कॉपर जैसे खनिज का अंश मिलता है। इस मिट्टी में पाए जाने वाले कॉपर हमारी बॉडी में स्किन के पिगमेंट को बनाने में मदद करता है।

विधि:-

  • 50 गम अदरक को पीस कर उसका पेस्ट तैयार कर लें।
  • उस पेस्ट में एक मुट्ही लाल मिट्टी मिलाकर दोबारा उसका पेस्ट तैयार कर लें।
  • रोजाना दिन मे एक बार उस पेस्ट को सफेद दाग वाले भाग में लगाए।

 नीम के पत्ते

नीम के पत्तों के रस के सेवन करने से हमें अपने खून को साफ़ बनाये रखने में मदद मिलती है। सफेद दाग से बचने के लिए नीम की पत्तियों का रस पीने से काफ़ी लाभ मिलता है।

विधि:-

  • 3 से 4 नीम के पत्ते को तोड़कर उसे पीस लें।
  • फिर 1 ग्लास पानी में उसे मिलाए।
  • हफ्ते मे 1 बार उस पानी को पीने से खून सॉफ बना रहता है।

अदरक के पत्ते

अदरक भी सफ़ेद दाग को हटाने के लिए बहुत बढ़िया treatment है। कैसे करे अदरक का इस्तेमाल जानिए .

विधि:-

  • थोड़े से अदरक की पत्तियों को मिक्शी या सिलवट में पीस लें।
  • फिर उसे एक कप पानी मे मिलाकर उनका पेस्ट तैयार कर लें।
  • उस पेस्ट को दिन में दो बार सुबह और शाम उस सफेद दाग वाले जगह पर लगाए।

तांबे के लोटे का पानी

यह सीधा और प्रमाणित किया गया है की सफेद दाग का इलाज तांबे के लोटे का पानी पीने से होता है।

  • आपको तांबे के लोटे में रात भर सॉफ पानी भर कर उसे ढक कर रख दें।
  • शुबह जल्दी खाली पेट उस पानी को पीए।
  • ऐसा करने से सफेद दाग धीरे-धीरे कम होने लगेंगे।

सफ़ेद दाग में क्या खाएं क्या नहीं

  • हरी सब्जियां, लौकी, गाजर और दलों का सेवन करें।
  • फ़ास्ट फ़ूड और ज्यादा ताली और मशालेदार भोजन को ना कहें।
  • मांस, मछली को दूध के साथ नहीं खाएं।
  • मांस-मदिरा त्याग दें।
  • ज्यादा खट्टा खाने से बचें। नमक की कम मात्रा ही भोजन में लें।
  • करेले की सब्जी या जूस पियें।
  • सुबह शाम गजर का जूस या लस्सी पियें।

यहाँ पढ़ें: होठों का कालापन दूर करने के 10 घरेलू उपाय – Dark Lips Treatment in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here