गर्भावस्था के दौरान कौन से फल खाये और कौन से नहीं जानिए

गर्भावस्था में कौन से फल खाने चाहिए और कौन से नहीं: हर कोई गर्भवती महिला यही चाहती है कि उसके पेट में पल रहे शिशु (Baby) का अच्छी तरह विकास हो, वह किसी भी चीज से अधूरा नहीं हो। इसलिए वह अपने खान-पान, रहन-सहन के लिए काफी परेशानियां उठती है। जब बात आती है आहार की तो वह यही सोचती है की प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। गर्भवस्था में वह अपने favorite भोजन को भी नहीं खा पाती है। Pregnancy में क्या खाये और pregnancy kon se fal khane chahiye इसको लेकर हर समय परेशान रहते हैं। लेकिन हम आपको बताने जा रहे है कि pregnancy के दौरान आपको कौन से फल (fruits) खाने चाहिए और कौन से फल नहीं खाने चाहिए।  गर्भवस्था के दौरान फल बहुत महत्वपूर्ण होते है क्यूंकि इनमे भरपूर प्रोटीन, विटामिन और खनिज होते है जो हर प्रेग्नेंट महिला के लिए उपयोगी होते हैं, जो कि ऊतकों और सेल विकास को विकसित करने में मदद करते हैं। फलों में मौजूद विटामिन C हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। आइये जाने गर्भवस्था के दौरान खाये जाने वाले फल।

गर्भावस्था के दौरान खाए जाने वाले फल – Fruits eaten during pregnancy in Hindi

केला – Banana

केला गर्भवस्था के दौरान खाया जाने वाला सबसे स्वादिष्ट भोजन है। केले में फोलेट, Vitamin C, B 6, पोटेशियम, मैग्नीशियम आती होते हैं। फोलेट प्रसव भ्रूण को न्यूरल ट्यूब दोषों से बचने में मदद करता है। विटामिन बी आपके सोडियम स्टार को विनयमित करने में मदद करता है यह मलती और उल्टी को रोकता है। जबकि केले में मौजूद मैग्नीशियम शरीर को तारावती देता है। doctor आमतोर पर पहले त्रैमासिक के दौरान हर रोज एक केला का उपयोग करने की सलाह देता है।

शरीफा – Custard Apple

गर्भावस्था के दौरान शरीफा (Custard Apple) सबसे अच्छे फल में से एक है जिसे प्रेगनेंसी के दौरान खाया जा सकता है। इसमें विटामिन ए और सी बहुत अच्छे मात्रा में होता है जो आपके बढ़ते बच्चे की आँखों, त्वचा, बाल और शेर के ऊतकों के लिए बहुत अच्छा होता है। गर्भवस्था में कब्ज को रोकने के लिए शरीफा में मौजूद फाइबर काफी मददगार होता है।

चिक्कू – Sapodilla

चिक्कू गर्भावस्था के दौरान बहुत अच्छा है, चिक्कू इलेक्ट्रोलाइट्स, विटामिन ए, कार्बोहाइड्रेट और ऊर्जा से भरे हुए होते हैं, जो माताओं को स्तनपान कराने के लिए भी उपयुक्त हैं। चिक्कू गर्भवती माताओं के लिए काफी लाभदायक होता है। गर्भवस्था में चक्कर आना और मलती की प्रोब्लेम्स से बचता है। यह फल कोलेजन के उत्पादन में सुधर करता है जिससे पेट से जुडी विकार जैसे दस्त और पेचिश की समस्या दूर होती है।

तरबूज –watermelon

तरबूज में विटामिन ए, सी, बी 6, मैग्नीशियम और पोटेशियम भरपूर मात्रा में होता है। पहले तिमाही में तरबूज खाने से यह दिल को कठोर, हाथों और पैरों में सूजन को कम करने में मदद करता है, इसके अलावा यह मांसपेशियों की ऐंठन कम करता है और आपको हाइड्रेट रखता है। यह गर्भवस्था के दौरान सबसे अच्छा और सही आहार है।

आम – Mango

अगर आप चाहती हैं की गर्भवस्था में आम खाना चाहिए या नहीं तो हम आपो सुझाव देंगे कि कच्चे आम नहीं खाये अगर आम पका हुआ है तो आप खा सकती हैं। यह पाचन को सही, कब्ज को कम और कई बिमारियों के संक्रमण से बचता है। आम आपको गर्मियों में ही उपलब्ध होते है इसलिए आप अलग मौसम में इसे खाने का प्रयास नहीं करें।

सेब – Apple

सेब कई मायनों में मदद करता है, यह आपके बच्चे की प्रतिरक्षा और शक्ति को बढ़ता है। गर्भवस्था के दौरान अगर आप सेब कहते हैं तो यह घरघराहट, अस्थमा और एक्ज़िमा के जोखिम को कम करने में मदद करता है। सेब विटामिन A, E, D, और zinc से समृद्ध है।

कीवी – Kivi

पका हुआ कीवी फल गर्भवस्था के दौरान काफी अच्छा मन जाता है। इसमें विटामिन सी, ई, ए, पोटेशियम, फास्परस, मैग्नीशियम, फॉलिक एसिड और आहार फाइबर जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों होते हैं। यह मानव श्वसन प्रणाली को सही करने में मदद करता है। इससे खांसी, ठंडा और घबराहट की समस्या दूर हो जाती है। यह फल रक्त की थक्के में मदद करता है।

अमरूद – Guava

गर्भवस्था में अमरुद खाना बहुत अच्छा है। अमरुद का रस मुख्या रूप से एक माँ का भोहन है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को नियंत्रित करने और साथ ही रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।

गर्भावस्था में कौन से फल नहीं खाने चाहिये

गर्भावस्था में जहां आपको अपने आहार को संतुलित और सही तरीके से लेना पड़ता है वही आपको मालूम होना चाहिए की कौन से ऐसे फल हैं जो आपको प्रेगनेंसी में नहीं खाने चाहिए। आइये जानते हैं ऐसे कौन से फल है जिन्हे आपको प्रेगनेंसी में नहीं खाना चाहिए।

पपीता – Papaya

गर्भवस्था में आपको पपीता खाने से बचना चाहिए, इसे खाने से गर्भपात की समस्या हो सकती है। कच्चे या आधे पके पपीते में लेटेक्स होते है जो गर्भाशय के लिए नुकसानदायी होता है। वैसे तो पूरा पका हुआ पपीता गर्भवस्था में सही होता है लेकिन अगर पपीता कच्चा या आधा पका है तो कभ नहीं खाएं।

काले अंगूर – Black Grapes

डॉक्टर्स सलाह देता है की गर्भवस्ती महिला के लिए अंगूर खाना बहुत बड़ी प्रॉब्लम है। अंगूर में कला अंगूर भूलकर भी प्रेगनेंसी में नहीं खाना चाहिए। विशेष रूप से गर्भवस्था के पहली तिमाही में तो इससे दूर ही रहना चाहिए क्यूंकि यह शरीर में गर्मी बढ़ता है जो बच्चे के लिए बहुत हानिकारक होता है।

अनानास –Pineapple

गर्भवस्था के दौरान भूलकर भी अनानास नहीं खाएं क्यूंकि यह गर्भाशय को नरम कर सकता है। अगर आप चाहती भी हैं तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

अंगूर – Grapes

गर्भवस्था के अंतिम तिमाही में अंगूर खाने से बचना चाहिए, क्यूंकि अंगूर पेट में गर्मी देता है जिससे डिलीवरी समय से पहले होने की आशंका हो सकती है।

संतरा – Orange

संतरा हो या कोई ज्यादा खट्टा फल गर्भवस्था के दौरान खाना बहुत हानिकारक सिद्ध हो सकता है। खट्टे फल डिलीवरी को नुक्सान पहुंचा सकते हैं।

ये रहे फल जो गर्भावस्था के दौरान खा सकते हैं और कौन से फल नहीं खा सकते हैं। अगर आपको कोई राय लेनी हो तो आप कमेंट बॉक्स से पूछ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here