Positive Thinking कैसे बनाये सकारात्मक सोच

कामयाबी के लिए बहुत जरूरी है कि आपकी सोच कैसी है, सफलता आपकी सोच पर निर्भर करती है आप किस प्रकार से सोचते है, इस दुनिया में कोई भी इंसान ऐसा नहीं है अपनी माँ के पेट से बड़ा या successful बनकर आता है। उसे सफल होने के लिए बहुत से कठिन परेशानियों का सामना करना पड़ता जिससे वह आगे सफल हो जाता है। अगर आप भी काफी मेहनत करते है लेकिन कामयाबी फिर भी हाथ नहीं आती तो इसके पीछे ये कारण है की आप सही तरीके से सही जगह पर सही काम नहीं करते है आप अपने जीवन को maintain नहीं कर पा रहे है, जिसकी वजह से आप परेशान रहते है, लेकिन आज हम आपके सारे नकारतक सोच को सकारातमक सोच में बदलने के लिए ऐसे तरीके लाये है जिससे आप आज से सकारातमक सोचने लगेंगे। आइये जानते है ऐसे best tips जिससे आपके negative thoughts दूर होकर positive thoughts बन जायेंगे।  सकारात्मक-सोच-कैसे-रखें-How-to-make-Positive-Thinking-in-Hindi-sakaratamk-soch-kaise-banaye

सकारात्मक सोच कैसे रखें How to make Positive Thinking in Hindi

achisoch.com का पहला मकसद आज आपको सफलता के पार जाने वाले सारे नकारातमक सोच को दूर करने का है हमारे द्वारा आपको पहले बताया गया था की नकारात्मक सोच कैसे दूर करे, जिसका हमारे पाठको के जीवन में काफी लाभ भी हुआ। फिर भी हमारे बहुत से दोस्त हमें बार बार यही पूछ रहे है की सकारात्मक सोच लाने के लिए क्या करे? कैसे अपनी जिंदगी में सफल हो? आइये जानते है ऐसे कौन से tips है जिन्हे अपनाकर आप अपने boring life को और interesting बनाकर एक सफल आदमी सके और सफल ज़िन्दगी बिताते रहे।

जो आप चाहते है उसपर FOCUS करे

India में ज्यादातर देखा गया है की हर कोई अपने कोई भी काम को करने से पहले ये सोचने लगता है की इसका परिणाम क्या होगा। इसे करके मई अपने समय को बर्बाद तो नहीं कर रहा हूँ जहा वह पुरे दिन भर घूमता है या movie देखने चले जाता है उस time को वह याद ही नहीं करता है। जबकि हर movie में देखने को मिलता हैकी जब तक हम पूरी कोशिश नहीं करते हमें सफलता नहीं मिलती है।

किसी भी काम को चाहे वह बड़ा है या छोटा करने से पहले तो आपको 100% सफलता मिलेगी अगर आप सच्चे सकारातमक सोच से कर रहे है, अगर फिर भी आप पहली बार कर रहे है अरु असफलता मिल गई तो ये नहीं सोचो की आपका कुछ गया। क्यूंकि कोई भी इंसान किसी भी कठिन काम एक बार में नहीं कर सकता है तो आप भी तो इंसान ही हो। और जहा तक हार की बात हारता तब है इंसान जब उसके पास कुछ नहीं होते उस काम करने को। उस काम को करने से आपको जितना भी है सिखने को ही मिलेगा। इससे अच्छा है की बेकार के अंतिम परिणाम को न सोचते हुए उस काम पर फोकस करे जो आपको करना है।

हर समस्या एक सबक के साथ आता है

हम जो भी कुछ काम करते है वह हमारे लिए एक सबक है जिसे हम अपने सफलता के लिए कर रहे है क्यों न उस काम को दिल और दिमाग से करे। जब भी आप बड़े काम को करे तो गलती नहीं समझे उसे अपने जिंदगी का एक अहम् हिस्सा समझे। सोचे की कुछ तो सिखने को मिला। इससे आपका confident बढ़ेगा और आप उस काम करने को क्या कोई भी कठिन काम को करने के लिए तैयार हो जायेंगे।

सकारात्मक लोगों से मिले

सकारात्मक सोच आएगी कैसे? जब आप सकारातमक लोगो से मिलेंगे उसने बात करेंगे। क्यूंकि जो भी positive persons होते है उनके दिमाग में कोई न कोई बड़ा अच्छा काम होता है। जिसे वो और इजी और best तरीके से करने के लिए सोचते है। उनके साथ रहकर भी आपका दिमाग बहुत कुछ सीखेगा और नयी नयी बाते दिमाग में आएगी। जिससे अपने आप आपकी नकारातमकता दूर हो जाएगी।

मुस्कुराओ

जिंदगी चार दिन की है जब आप अपने लाइफ से खुश है और हर समय आपके चेहरे पर मुस्कान है, और उन लोगो के लिए जिंदगी बहुत लम्बी है जो मुस्कराना नहीं जानते है। इसलिए जब बह मौका मिले हसे और औरो को भी हसाये। अध्ययन से पता चला है की मुस्कराने से आधे से अधिक दुख दूर हो जाते है। आपने देखा भी होगा The Kapil Sharma Show में कितने रोगी यही बात कहते है की हमारे आधे से ज्यादा दुःख तो आपने सही कर दिए इसलिए दोस्तों मुस्कराओ दिल से।

अपने आप से खुश रहो।

ये आज की दिनचर्या के हिसाब से परफेक्ट है, आजकल 90% लोग देखे गए है उन्हें बस काम काम की पड़ी है उनको एक पल ये पता नहीं है की भाई आप काम ही करने नहीं आये हो आपको कभी खुश भी रहना चाहिए। इससे तो आपके और गधे में क्या अंतर रह गया फिर, वो भी काम करता है आप भी। जब तक आप अपने द्वारा किसी भी काम से संतुष्ट और खुश नहीं रहेंगे आप आगे सकारातमक नहीं सोच सकते है सुखी भी नहीं रह सकते है।

दिमाग को कुछ समय Free रखें

सकारात्मक सोच आएगी कैसे जब maximum समय आप mobile में घुसे होंगे तो? आज के समय में जहा मोबाइल टीवी इंटरनेट से इंसान की जिंदगी में आसानी कर दी है उसके साथ साथ बहुत सारे बीमारिया भी खींच ली है जैसे मोटापा :-D, ढीलापन, सुस्ती, और यहाँ तक की शारीरिक विकास का न होना। बच्चा पैदा नहीं हो रहा है उसे मोबाइल या video game चाहिए है। गेम खेलना अच्छी बात तो है लेकिन ये नहीं की आप दिनभर उसी के पीछे लगे है। सकारातमक सोच के लिए आपको अपने दिमाग को रोजाना कुछ समय के लिए free रखना जरूरी है उस समय आप कही घूमने शांत माहौल में जा सकते है और नयी नयी बाते सोच सकते है। इससे आपके दिमाग में नए नए विचार आएंगे।

सुबह की सैर

आप सभी इस बात से ज्ञात है की सुबह सैर करने से हमारे रोग तो दूर होते ही है इसके अलावा हमारे दिलो दिमाग से भी बहुत सारे नकारातमक सोच दूर होते है। दिन की शुरुवात करने से पहले हमें जानना जरूरी है की आज हम करेंगे क्या? positive सोच वाले लोगो की ये खास बात होती है इसलिए वे महान बनते है। शुबह की सैर हमारे दिमाग को सही मूड में डालता है जिससे हमारे सरे काम सही तरह पुरे होते है।

मैडिटेशन (Meditation)

सकारात्मक सोच के लिए जरूरी है आप अपने कितना समय अपने दिमाग की शांति में दे रहे है। दिमाग को शांत और stress free रखने के लिए जरूरी है Meditation इसे हम सांसो का व्यायाम भी कहते है इसके जरिये आप अपने negative thoughts को दूर कर positivity डालसकते है। इस exercise को आप शुबह या शाम करे। इससे आपको अच्छी सोच सोचने की ताकत मिलेगी।

सकारात्मक और प्रेरणादायक किताबे पढ़ें

जब भी आप बोर हो रहे है या कोई भी फ्री टाइम हो अपने सोच को बदलने के लिए आपको प्रेरणदायक किताबे जरूर पढ़नी चाहिए जिससे आपका मनोबल जो थोड़ा बहुत गिरा हो उससे आपको काफी कुछ मिलेगा। जब आप किसी प्रेरणादायी कहानी पढ़ रहे हो तो उस कहानी कोई नहीं पढ़े जो लगातार पास होते गया उस कहानी को पढ़े जिसने बहुत ठोकरे खाकर आगे बढ़ने की ठान ली थी और सफल भी हुआ। जैसे की Abraham Lincon। आज के समय में हमारे बीच बहुतसारे inspiring लोग है जिनमे एक हमारे बॉलीवुड में भी है जिनका नाम Nawazuddin Siddiqui है .

इसके अलावा अगर आपके पास कोई भी राय है तो आप हमें comment के जरिये बता सकते है। अगर आपको कुछ और पूछना हो तो आपके हर परेशानी के लिए हम आपके साथ है। बाते अच्छी लगी तो हमारे Facebook पेज को like करे और इस लेख को अपने दोस्तों तक भी share करे।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *