मेरुदंडासन कैसे करें: विधि, लाभ एवं सावधानियां – Merudandasana Steps & benefits in Hindi

मेरुदंडासन योग मेरुदंड को लचीला और परिपक्व बनाता है। अक्सर हम लोगों को थकान लग जाती है और कभी-कबार शांत नहीं रह पाता है। ऐसे में मेरुदण्ड आसान हमारे लिए काफ़ी असरदार होता है। इस आसन के नियमित अभ्यास से हमारे भुजाएं और कलाएं मजबूत होते है। इस योग के एक्सर्साइज़ से गठिया रोग में फायदा मिलता है। इसके अलावा जिन लोगों का शारीरिक संतुलन ठीक नहीं होता, चलने फिरने में परेशानी होती है उन लोगों के लिए यह योगासन बहुत फायदेमंद होता है। जानिए मेरुदंडासन कैसे करें, विधि एवं लाभ – Merudandasana Steps and benefits in Hindi.

Merudandasana Steps and Benefits in Hindi मेरुदंडासन कैसे करे बिधि और लाभ

मेरुदंडासन योग विधि – Merudandasana Steps in Hindi

Step 1: किसी भी शांत जगह पर चटाई बिछाकर आराम से बैठें।

Step 2: इसके बाद अपनी दोनों आँखों को बंद कर दें।

Step 3: अब अपने दोनों हाथों को जांघो के उप्पर रखें और पीठ को सीधा रखें।

Step 4: अब अपनी मुट्ठी को बाँध लें और दोनों हाथों के अंगूठो को सामने की ओर रखें।

Step 5: अब आप अपने साँस को धीरे-धीरे छोड़े और लेते रहें।

Step 6: इसके बाद आप अपनी हथेलियों की दिशा को बदलो और मुट्ठी को उप्पर की ओर घुमाएं।

Step 7: इस प्रोसेस में आपके अंगूठे की दिशा आकाश की ओर हो जाएगी और साँस के प्रोसेस को धीमी रखें।

Step 8: अब आप मुठ को उल्टा करे और गहरी सांस लें।

Step 9: इस योग को आप 10-12 कर सकते हो।

मेरुदंडासन योग करने से लाभ Merudandasana Benefits in Hindi

1- आपके मन को शांत रखने मे बहुत फायदेमंद है। स्त्री फ्री माइंड करता है जिससे मन काम पर बना रहता है।

2- यह हमारे मेरुदण्ड हड्डी को फुर्तीला और मजबूत बनता है जिससे हमारे कमर बदन दर्द नहीं होता।

3- दिमाग को सचेत और अधिक सोचने लायक बनाता है।

4- मेरुदण्ड योग करने से थाइमस ग्लैंड से पॉज़िटिव हार्मोन इफेक्टिव होते है।

5- मेरुदण्ड मुद्रा को करने से इंसान के फेफड़े स्वस्थ रहते है। क्यूंकि इससे साँस लेने और छोड़ने का प्रोसेस ज़्यादा होता है।

मेरुदंडासन में सावधानियां

इस योग को करना इतना आसान नहीं है और इसके अच्छी तरह से न करने पर इसके फायदे नहीं बल्कि नुकसान भी है जानिए।

  • हाई ब्लड प्रेशर वेल रोगियों को यह योग नहीं करना चाहिए।
  • खाना खाने के बाद या पेट भरा हुआ हो तो इस योग को नही करें।
  • दिल की बीमारी वाले लोगों को यह योगासन नहीं करना चाहिए.
  • इस योग को करते टाइम आपको कोई भी प्राब्लम हो तो आप इसे उसी टाइम करना बंद कर दें।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here