आंवले के फायदे एवं नुकसान – Amla Benefits and Side-Effects in Hindi

Aawla ke fayde in hindi: हम सब इस बात से वाकिफ हैं की पहले ज़माने में अंग्रेजी दवाई नहीं होती थी फिर भी लोग अपना इलाज घर पर ही कर लेते थे। इसका प्रमुख कारण यह की हमारे घर के पदार्थ से बने औषधि हमारे शरीर को बीमार होने से बचाते थे। जोकि आज भी आयुर्वेद में इस्तेमाल किये जाते हैं। जहाँ आमला की बात की जाय तो यह अमृत फल विटामिन सी का सबसे बड़ा स्रोत हमारे ज़िन्दगी में अहम् हिस्सा रखता है। यह शरीर की कई सारी बिमारियों का नाश कर सकता है। तो चलिए आज हम आपको आंवले के चमत्कारी फायदे, औषधीय गुण और स्वास्थ्य को होने वाले लाभ (Amla Benefits and Side-Effects in Hindi) के बारे में बताने जा रहे हैं।

के फायदे औषधीय गुण एवं लाभ Amla Benefits and Side Effects in Hindi
आंवले के औषधीय गुण एवं लाभ

आंवला के गुण और फायदे – Amla Gun Fayde in Hindi

आंवले में भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है इसके अलावा आंवले में पोटेशियम, कार्बोहाइड्रेट, फीवर, प्रोटीन, विटामिन A, B, C और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आंवले से न सिर्फ मधुमेह, बवासीर, नकसीर, दिल की बीमारी जैसी बिमारियों का उपचार हो सकता है बल्कि इससे आप अपनी त्वचा को कोमल, गोरी बनाने के साथ साथ बालों के विकास और झड़ने टूटने की समस्या से निजात पा सकते हैं।

आँखों की रौशनी बढ़ाए

आंवले में विटामिन सी के अलावा विटामिन A भी प्रचुर मात्रा में होता है जोकि आँखों की रौशनी को बढ़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अगर आपको रात को कम दिखाई देता है या धुंधला सा दीखता है तो आप रोजाना आंवले का सेवन करें इससे आपकी सारी परेशानियां जल्दी ही सही हो जाएँगी। इसके लिए बेहतर उपाय है कि आप आंवले के जूस में थोड़ी सहद मिलाकर पियें।

शरीर में कैल्शियम प्रदान करे

आंवले शरीर में कैल्शियम की कमी नहीं होने देता है। कैल्शियम की जरूरत हमारे शरीर की हड्डियों, दांतों, बालों और नाखूनों को होती है। शरीर के इन अंगों को कैल्शियम की कमी न होने के लिए आप रोजाना आंवले का प्रयोग करें। आंवले में विटामिन सी भरपूर मात्रा होता है जो कैल्शियम की कमी नहीं होने देता है। आंवले खाने से शरीर की सुंदरता में चार चाँद लग जाते हैं।

आंवला बांझपन दूर करने में मददगार

आवला महिला हो या पुरुष बाँझपन दूर करने में मदद करता है। यह महिलाओं में ओवुलेशन प्रक्रिया को बढ़ता है और पुरुषों में शुक्राणु की गुणवत्ता में सुधार लाता है। इसके अलावा यह स्वस्थ गर्भधारण में मदद करता है। आप रोजाना 2-3 आंवले को बारीक़ पीसकर उसमे थोड़ा शहद मिलकर खा सकते हैं। इससे आपको काफी फायदा होगा।

मोटापा को करे कम

जिस किसी भी व्यक्ति पर अतिरिक्त चर्बी चढ़ी हो उसे अक्सर खट्टे खाने को कहा जाता है। क्यूंकि चर्बी को खर्च करने के लिए खट्टा पदार्थ काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। और जहाँ आंवले की बात किया जय आंवले के रस उपापचयी क्रियाओं में सुधार लाता है और अतिरिक्त वसा को कम करने में सहायता करता है।

नकसीर के लिए

बहुत से लोगों के नाक में नकसीर होने लगता है जो काफी परेशान करता है और साथ ही उसमे से खून आता है। नकसीर की समस्या से निजात पाने के लिए आंवले के रस की कुछ बूंदें नाक में डाल लें। 5 मिनट के बाद आप देखेंगे खून आना बंद हो जायेगा। जिन लोगों को नकसीर की समस्या हमेशा रहती है उन्हें आंवले का जूस पीना शुरू कर देना चाहिए और और आंवले के पेस्ट को सिर पर लगाना चाहिए।

दिल को मजबूत करे

आंवले खाने से दिल मजबूत होता है। अगर आप छोटी छोटी घटनाओं से डरते हैं तो आप आवला खाना शुरू कर दें। दिल के मरीज को हर रोज कम से कम तीन आंवले खिलने चाहिए। इससे दिल की बीमारी दूर होती है। दिल के मरीज को मुरब्बा भी खिला सकते हैं।

मधुमेह के रोगियों के लिए

मधुमेह के मरीजों के लिए आंवला काफी फायदेमंद होता है। आंवले का जूस पीने से शुगर लेबल कण्ट्रोल में आ जायेगा। मधुमेह के मरीज को हल्दी के चूर्ण के साथ आंवले का सेवन करवाने से काफी रहत मिलेगी।

सुंदर और दमकती त्वचा के लिए

स्वस्थ और चमकती त्वचा के लिए आंवला काफी मददगार होता है। यह न सिर्फ त्वचा को गोरा करता है बल्कि दाग, मुहांसे, झुर्रियों या झाइयां दूर करने में अहम् भूमिका निभाता है। रोजाना दो चम्मच आवला रस पीएं या फिर आप त्वचा पर आंवले के रस को लगाएं। आवला विटामिन सी, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-एजिंग और विरोधी वैक्टीरियल गुण से समृद्ध है इसलिए यह रंग को गोरा करने और चमकती त्वचा के लिए काफी उपयोगी होता है।

आंवला का प्रयोग बालों के लिए

आंवले (amla) का सेवन आपके बालों के लिए वरदान हो सकता है, क्योंकि आंवले के प्रयोग से आप अपने बालों को सेहतमंद बना सकते है। गंजेपन और बालों के सफेद होने और कई अन्य समस्याओं को भी कण्ट्रोल कर सकते है।

मुंह के छालों के लिए उपयोगी

अगर आप मुंह के छालों से परेशान है तो बड़े आंवला (amla) का सेवन कीजियेm और आंवले का जूस इसके लिए सर्वोत्तम होता है इसके लिए आंवले के जूस को आधे कप पानी के साथ मिक्स करिए और उस से रोजाना कुल्ला करिए निश्चित ही आपको इस से फायदा होगा।

पाचन तंत्र सही रखे

आंवले में फीवर उचित मात्रा में होता है। आवला खाने से गैस, कब्ज, डायरिया, दस्त जैसी परेशानियां दूर हो जाती हैं। अगर आप खाना खाने के बाद आमला खाएं तो आपका पाचन अच्छे होने लगेगा।

मेटाबॉलिज्म में सुधार

लगातार आंवले के सेवन से मेटाबॉलिज़्म में सुधार होता है इससे आपके मोटापा भी कण्ट्रोल होने मदद मिलती है। क्यूंकि जितना शरीर का मेटाबोलिज्म मजबूत होता है उतना ही आपको वजन घटने में मदद मिलती है। इसलिए रोजाना 3 से 4 आंवले खाएं अगर आंवले नहीं हैं तो इसका आचार या मुरब्बा जरूर आहार में लें।

जवान दिखने में मदद करे

बुढ़ापा तो एक दिन सबने होना है लेकिन जो व्यक्ति बुढ़ापे में भी जवान दिखे और सारे काम कर सके तो उसे लोग जवान ही देखते हैं। आवला एक ऐसा फल है जो बुढ़ापे की गति को मंद कर देता है। आपको 5 ग्राम आंवले के पाउडर नियमित रूप से खाने पर आपके बाल काले रहेंगे और आपके अंदर बुढ़ापे तक एक नई शक्ति बनी रहेगी।

यकृत को मजबूत बनाये

लिवर न केवल मनुष्य शरीर में सबसे बड़ी ग्रंथि है बल्कि यह सही तरह से काम करना बहुत जरूरी है। इसके बिना मनुष्य ज्यादा देर तक जी नहीं सकता है। इसके बिना आदमी का जीवन अधूरा है। आवला पीलिया और हेपेटाइटिस जैसे यकृत विकारों में बहुत प्रभावी होता है।

दांतों को बनाये मजबूत

अगर दांतो न हो तो चेहरे की शोभा कम हो जाती है ये तो एक छोटी समस्या है जहाँ अगर एक बार आपके दांत कमजोर हो गए तो आप कठोर चीजों को नहीं खा सकते हैं। इसलिए दांतो को निरोगी और मजबूत बनाने के लिए आवला खाना बहुत अच्छा है। दांतों को कीड़े से बचने के लिए आवला काफी सहायक होता है।

आंवला खाने से नुकसान – Amla Khane se Nuksan in Hindi

  • आंवला का ज्यादा सेवन करने से एसिडिटी हो सकती है।
  • उच्च मात्रा में आंवले का उपभोग करते हैं, तो यह मल को कठोर कर सकता है।
  • यदि इसका सेवन लंबे समय तक किया जाए या फिर ज़्यादा मात्रा में किया जाए तो यह पथरी को भी जन्म दे सकता है।
  • आंवला का अधिक सेवन करने से पेट संबंधी परेशानियां बढ़ जाती हैं इससे खाना ना पचने और एसिडिटी की समस्या भी पैदा हो जाती है।
  • उच्च रक्तचाप और किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं तो अधिक आंवला का सेवन ना करें। आंवला शरीर में सोडियम के स्तर को बढ़ा देता है और किडनी की कार्यप्रणाली पर असर डालता है।
  • आंवले की तासीर ठंडी होती है, इसलिए इसके ज़्यादा उपयोग से सर्दी-खांसी की समस्या भी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here