तरबूज के जूस के फायदे एवं नुकसान – Watermelon Juice Benefits and Side-Effects in Hindi

तरबूज के जूस पीने से स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Watermelon Juice in Hindi: गर्मियों में तरबूज का जूस पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। जहाँ एक ओर यह हमारे शरीर को तरोताजा करता है वहीँ यह पेट से कई सारी गन्दगी को बाहर निकल देता है जिससे हमारा शरीर भनायक बिमारियों से बचता है। यह गुणकारी फल कई पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है। स्वास्थ्य लाभ की बात करें तो यह किडनी की समस्या वाले लोगों के लिए बहुत ही फायदे करता है। इसके अलावा यह त्वचा और बालों को भी मजबूत हुए स्वस्थ बनता है। आइये जानते हैं इस चमत्कारी फल के जूस के फायदे।  

यही नहीं अगर आप तरबूज के जूस को काली मिर्च के पाउडर के साथ मिलकर पियें तो यह शरीर को दोगुना फायदा देता है। इन दोनों के मिश्रण को पीने से शरीर में कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, जिंक, छोपेर की मात्रा हमारे शरीर में अवशोषित होती है। साथ में शरीर में विटामिन सी, विटामिन बी5, बी1, बी2, बी3 और बी6 की पर्याप्‍त मात्रा भी पहुँच जाती है।

तरबूज के जूस के फायदे – Tarbooz Ke Juice Ke Fayde in Hindi

तरबूज के जूस के लाभ वजन को कंट्रोल करे

आप इस बात का यकीन नहीं करेंगे की यह फल आपके वजन को घटाने में सहायक होता है। इस फल में मुख्य रूप से पानी और खनिज पदार्थों की मात्रा ज्यादा होती है और वसा की मात्रा न के बराबर होती है। जिसके सेवन से आपको ज्यादा देर तक भूख नहीं लगती है और शरीर में वसा की मात्रा में बढ़ोतरी नहीं होती है।

तरबूज के जूस के फायदे कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करे

तरबूज के जूस को पीने से शरीर में कोलस्ट्रोल को कण्ट्रोल करता है साथ ही हदल संतुलित रहता है। यह हृदय से समन्धित रोगों का खत्म कर देता है। यह शरीर से ख़राब कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकलने में मदद करता है। जब भी हमारे शरीर में colestrol की मात्रा संतुलित रहेगी तो हमारे शरीर में बिमारियों का आगमन नहीं होगा।

तरबूज के रस के लाभ त्वचा को स्वस्थ बनाए

इस फल के सेवन से त्वचा में नमी ज्यादा आती है। तरबूज के जूस में मौजूद लाइकोपीन त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है क्यूंकि यह एंटीऑक्सीडेंट त्वचा में झुर्रियों को होने से रोकता है। यह त्वचा से तैलीय त्वचा को दूर करता है जिससे कील मुहांसे जैसी समस्या नहीं होती हैं। इसके अलावा यह त्वचा हाइड्रेट और चमकने में मदद करता है।

तरबूज के जूस पीने के फायदे कैंसर रोग में है सहायक

अगर आप नियमित रूप से पानी का सेवन करेंगे तो आपको कई सारी बिमारियों से राहत मिलेगी। तरबूज के जूस के साथ अगर आप थोड़ी सी काली मिर्च पाउडर मिला लें और पी जाएँ। तो यह कैंसर की कोशकाओं को नष्ट कर देता है। इस फल में लाइसोपिनि  नमक एंटीऑक्सीडेंट शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनता है।

तरबूज के जूस के औषधीय गुण दिल की बीमारियों से दे राहत

दिल को स्वस्थ रखने के लिए आप नियमित रूप से तरबूज के जूस का सेवन करें। क्यूंकि इसमें उच्च मात्रा में फोलेट होता है जो शरीर में रक्तसंचार को उचित रूप से बनाये रखने में मदद करता है जिससे दिल का दौरा पड़ने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

तरबूज के जूस का सेवन पानी की कमी दूर करे

तरबूज में 95% पानी होने के कारण यह शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है अगर शरीर में पानी की कमी नहीं होगी तो शरीर में रोगों का आगमन नहीं होगा, साथ त्वचा और बाल भी स्वस्थ रहेंगे। महिलाएं गर्भवस्था के दौरान इस जूस को काली मिर्च के पाउडर को मिलकर पी सकते हैं।

तरबूज के रस के गुण पेट की समस्याओं से राहत

अगर आपको पेट से सम्बन्धित परेशानियां हो रही हैं तो आप तरबूज के जूस को काली मिर्च के पाउडर के साथ मिलकर पियें। इससे आपके पेट दर, कब्ज, या गैस की समस्या दूर हो जाएगी। यह शरीर से गदंगी को बाहर निकाल देता है।

तरबूज के रस बालों के विकास में सहायक

यह शरीर से लेकर सिर में रक्त परिसंचरण को संतुलित और सही संचारित करने में मदद करता है। यह बालों को बढ़ावा देने में मदद करता है। स्वस्थ बाल और बालों के विकास के लिए कोलेजन की आवस्यकता होती है और तरबूज कोलेजन के गठन को बढ़ावा देने में मदद करता है।

तो जिस प्रकार तरबूज खाने से हमारे स्वास्थ्य को बहुत फायदा उसी तरह तरबूज का जूस पीने से सेहत और त्वचा स्वस्थ और निरोगी रहती है। ऐसे ही मजेदार सब्जियों और फलों के फायदे के लिए हमारे साथ जुड़े रहें।

तरबूज के जूस के नुकसान – Tarbooz ke Juice Ke Nuksan in Hindi

  • हॉर्ट की प्रॉब्लम से घिरे लोगों को तरबूज का सेवन करने से बचना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि तरबूज में भारी मात्रा में पोटेशियम होता है।
  • तरबूज का सेवन डायबिटीज से ग्रस्त व्यक्तियों और गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिलाओं को कम मात्रा में ही तरबूज का सेवन करना चाहिए।
  • अस्थमा के मरीजों के लिए ज्यादा तरबूज का सेवन सही नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि असथमा में अमीना एसिड होता है। अगर रोगी ज्यादा तरबूज का सेवन करेंगे तो अस्थमा अटैक का खतरा बढ़ सकता है।
  • किडनी की समस्या से घिरे लोगों को इसलिए तरबूज का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें मिनरल्स की मात्रा अधिक होती है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *