शलजम के फायदे और नुकसान – Shalgam Benefits and Side Effects in Hindi

शलजम सफ़ेद रंग का एक कंदमूल सब्जी है। मूली की तरह दिखने वाला यह हमारे स्वास्थय के लिए बहुत लाभकारी होता है। अपने कई गुण से प्रसिद्द यह विश्व स्तर पर लोकप्रिय है। शलजम के फायदे की बात करें तो यह शरीर को इम्युनिटी सिस्टम को बेहतरीन बनता है साथ ही हानिकारक फ्री रेडिकल्स, कैंसर और शरीर में सूजन की समस्या को तुरंत ही दूर कर देता है। यह एक कम कैलोरी वाली सब्जी है जो एंटी-ऑक्सीडेंट, मिनरल और फाइबर का एक अच्छा स्रोत है। यह हार्ट अटैक सहित दिल की दूसरी बीमारी और कैंसर को भी रोकता है। यह हमारे सेहत को बहुत फायदे पहुंचने वाली सब्जी है। आइये जानते हैं शलजम (शलगम) के फायदे और नुकसान – Turnip (Shalgam) Benefits and Side Effects in Hindi.

शलजम के स्वास्थ्य गुण और लाभ

शलजम खाने से फायदे – Shalgam Ke Fayde in Hindi

शलजम की सब्जी किसी भी तरह के रोगियों को बिना किसी डर के सेवन कराई जा सकती है। वजन को कम करने का यह सबसे अच्छा फायदेमंद प्राकृतिक उपज है। कैलोरी की बहुत कम मात्रा होने के कारण यह शरीर को तरोताजा रखने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म को भी सही रखता है।

कैंसर के उपचार में

शलजम में विटामिन सी, विटामिन इ और बीटा-कैरोटीन मौजूद होते हैं जो शरीर में एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में काम करते हैं। इसके एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोकेमिकल्स के उच्‍च स्‍तर होने से कैंसर के खतरे को कम करने में मदद मिलती है। ग्लूकोसाइनोलेट्स की उपस्थिति के कारण यह कैंसर के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। अपने दैनिक आहार में इस सब्जी का समावेश कर स्तन कैंसर के जोखिम के साथ-साथ मलाशय और ट्यूमर को भी कम कर सकते हैं।

हड्डियों को बनाये मजबूत

कैल्शियम और पोटेशियम का महत्वपूर्ण स्रोत होने के कारन यह हमारे शरीर की हड्डियों के विकास और मजबूती के लिए अहम् होता है। शलजम में पोसटेशियम, कैल्शियम जैसे पौष्टिक मिनरल्स होते हैं जो हमारी हड्डियों के विकास के लिए बहुत जरूरी होती है। शलजम का सेवन नियमित रूप से करने से हड्डियों के टूटने, ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे और रुमेटी गठिया की समस्‍याओं को रोका जा सकता है।

प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करे

शलजम में विटामिन सी और बिता-कैरोटीन की अधिकता होने के कारन यह हमारे इम्युनिटी सिस्टम को मजबूती देता है। vitamin सी कैंसर, हृदय रोग के साथ-साथ एक अच्छे एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करने और पुराणी स्वास्थय समस्याओं को कम करके स्वेत रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा देता है। साथ ही शलजम में पाया जाना वाला पोटैशियम मसल्स और नर्व को ठीक से काम करने में सहायक होता है।

अस्थमा रोग में सहायक

अस्थमा से पीड़ित मरीजों के लिए शलजम एक अमृत सामान औषधि होता है क्यूंकि इसमें एंटी-इंफ्लामेटरी साथ ही एंटीऑक्सीडेंट भरपूत होता है जो फेफड़ो से सांस का आगमन और नवागमन को साफ़ करता है। शलजम के नियमित सेवन से फेफड़ो से समन्धित कोई भी समस्या दूर हो जाती है।

वजन को कम करे

बढ़ते वजन से परेशान लोगों के लिए शलजम का इस्तेमाल करना काफी प्रभावी होता है। शलजम में बहुत कम मात्रा में कैलोरी की मात्रा पाई जाती है जिससे यह आपके वजन कम करने में मददगार साबित होगा। दूसरी तरह इसमें उच्च फाइबर चयापचय में सुधार कर वजन को नियंत्रित करता है।

पाचन तंत्र मजबूत करे

अगर आपके द्वारा किया गया भोजन सही तरीके से नहीं पचता है और आपको पेट दर, एसिडिटी, कब्ज जैसी समस्या है तो यकीन मानिये शलजम आपके बहुत काम आएगा। चूँकि शलजम में उच्च मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसलिए अगर आपका पाचन तंत्र में कोई समस्या है तो आप शलजम की सब्जी बनाकर खाएं।

शरीर की बदबू दूर करे

गर्मियों में ज्यादा पसीना होने के कारण गंध आना एक आम समस्या है। बहुत सारे लोग परफ्यूम के इस्तेमाल से इस गंध को दूर करने की सोचते हैं लेकिन अगर आप प्राकृतिक रूप से इसे जड़ से मिटा दें तो आपके पैसे भी बचेंगे और आप किसी के साथ बैठने से भी नहीं शर्मायेंगे। शलजम का रस पीना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा होता है और शरीर की गंध से बचाने में भी मदद करता है।

दिल को स्वस्थ बनाये

दिल से समाधित समस्यायों को दूर करने के लिए शलजम एक अच्छा पौष्टिक तत्वों से भरपूर सब्जी है। इसमें मौजूद विटामिन A और एंटी-इन्फ्लेमेन्डरी गुण दिल के दौरे, हार्ट स्ट्रोक और हृदय रोगों को रोकने में मदद करते हैं। शलजम फोलेट का भी एक बेहतरीन स्रोत है जो हृदय प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करता है

आंखों की रोशनी बढ़ाये

बहुत सारे लोग अपनी आँखों की रौशनी से परेशान होकर छोटे सी उम्र में ही चश्मे लगाना शुरू कर देते हैं। अगर आप चाहते हैं की आपकी आँखें स्वस्थ रहें तो आप शलजम का सलाद या सूप पीना नहीं छोड़ें। इसमें पाए जाने वाला लूटीन केरोटेन्वाइड मोतियाबिंद और मस्कूलर डिजेनेरेशन को रोकता है।

त्वचा को स्वस्थ बनाये

शजलम न सिर्फ बीमारी से बचाता है, बल्कि यह हमारी त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। अगर आप हर दिन शलजम का जूस पीएंगे तो आपकी त्वचा में रूखापन नहीं आएगा। इसके नियमित सेवन से आपकी त्वचा पर कभी भी कील-मुहांसे या दाग-धब्बे नहीं होंगे। आपकी त्वचा पर खूबसूरत निखार आएगा।

शलजम खाने के नुकसान – Shaljam Khane se Nuksan in Hindi

  • शलजम के ज्यादा सेवन करने से पेट गैस और पाचन समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • शलजम में ऑक्‍सीलेट्स की बहुत ही कम मात्रा होती है जो गुर्दे या पित्‍ताशय वाले मरीजों के लिए स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं पैदा कर सकते हैं।
  • शलजम में गोइट्रोजन नामक पदार्थ होते हैं जो थायराइड ग्रंथि के कामकाज में व्‍यवधान उत्‍पन्‍न कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here