मुंह के छालों का इलाज के आसान घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

अकसर पेट में कब्ज, पेट की गर्मी या दाँत से जीभ कट जानें और दूसरे कारणों से जब भी मूह में छाले हो जाते है तो कुछ भी खाना-पीना और निगलना तक बहुत मुश्किल हो जाता है, और जीभ पर छले हो जाते है। तब तो बहुत ही गंभीर हालत हो जाती है। मुँह के छले गालो के अंदर और जीभ पर होते हैं। वैसे मुँह में छले होना बहुत आम बात है, लेकिन इसके होने पर इंसान का बुरा हाल हो जाता है वो ना सही से खाना खा पता है और ना ही बोल पता है। ये छले दिखने में सफेद और अगल-बगल लाल होते हैं। ये ज़्यादातर गाल के पीछे, होंठ, जीभ के नीचे और मुँह के उपरी हिस्से मे होते है। अगर आप मुँह के छालों से काफी परेशान हैं तो आइये जानिए कैसे आप घरेलू उपाय और देसी नुस्खे से मुँह के चले की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। Home Remedies Mouth Ulcers Treatment in Hindi

Muh Ke Chale Ke Gharelu Nuskhe Home Remedies in Hindi

मुँह में छले आना एक नॉर्मल बीमारी है, जो कुछ दिनों बाद अपने आप ठीक हो जाती है। कुछ लोगों को छाले बार-बार आते हैं उन्हें घरेलू उपचार आजमाने चाहिए। पहले हम आपको मुँह में छाले होने के कारण बताते हैं।

मुंह के छाले होने का कारण:

मुँह में छाले आने के पीछे कई कारण होते है। प्रमुख रूप से संतुलित आहार, कब्ज, तबाकू, पान मसालों का सेवन है। ज़्यादा मशालों का सेवन भी इसके लिए . होता है। यदि पेट की सफाई सही से नहीं होता है तो मुँह, जीभ और होंठों में छालों की समस्या होती है। मुँह में छाले होने का कारण पेट में गर्मी होना है।

मुंह के छाले का इलाज और परहेज – Treatment of Mouth Ulcer in Hindi

मुँह के छाले कई मामले में नुकसानदायक नहीं होते और कुछ दिनों में ही खुद ख़त्म हो जाते हैं। नॉर्मली मुँह में छाले के लिए कुछ परहेज और इलाज के उपाय बहुत जरूरी हैं।

  • मुँह को हमेशा साफ़ रखें।
  • गुनगुने नमक पानी से कुल्ला करें।
  • ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीएं।
  • छाले वाले जगह पर एंटी-सेफ्टीक जैल लगाएं।
  • मेडिकदते मौत वॉश से मुँह की सफाई करें।
  • जब तक छाले ख़त्म नहीं हों तो ज्यादा मसालेदार और खट्टा खाना बंद कर दें।
  • धूम्रपान बंद कर दें इससे इन्फेक्शन ज्यादा बढ़ता है।
  • नशे से दूर रहें।

मुंह के छाले का उपचार के घरेलू एवं देशी नुस्खे – Home Remedies for Mouth Ulcer in Hindi

छोटी-छोटी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए घरेलू और देसी उपाय बहुत ही असरदार माने जाते हैं और इनसे मुँह, जीभ, होंठ के चालों को आसानी से दूर किया जा सकता है। यही नहीं इस बिमारी को जड़ से ख़त्म करने के लिए काफी बेहतर भी होते हैं।

1. Coconut Milk से करें इलाज 

नारियल का दूध मुँह के छाले में दर्द से राहत देता है साथ ही जलन को दूर करता है। उपचार के लिए एक चम्मच नारियल के दूध में थोड़ा शहद मिलाकर छाले के उपर लगाए। इस उपाय को 1 दिन में 4 बार करें। इसके अलावा नारियल के दूध से कुल्ला करने पर भी आराम मिलता है।

2. शहद से करें उपचार

मुँह के छाले से राहत पाने के लिए शहद भी बेहद अच्छा उपाय है। शहद में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-मिक्रोब्ल गुण होते हैं। इस उपचार के लिए रयी के फाहे को शहद में डूबकर छाले वाली जगह पर लगाए। इसी तरह ग्लिसरीन और विटामिन ए तेल को भी लगाया जा सकता है। इससे कुछ ही दिनों में आपको काफी फायदा मिलेगा।

3. एलोवेरा बेहतरीन घरेलू उपाय

एलोवेरा का रस, एफेक्टिव जगह पर लगाने से अल्सर से होने वाले दर्द से राहत मिलती है। एलोवेरा नेचुरल एंटी-सेफ्टिक की तरह काम करता है जिससे छाले ठीक होते हैं।

4. हल्दी का उपचार मुंह के छालों के लिए

हल्दी सदियों से मुँह के छालों के उपचार में इस्तेमाल किया जा रहा है। हल्दी का आयुर्वेद में तो हज़ारों साल से असरदार माना जाया जा रहा है।

  • एक गिलास पानी लें उसमें एक चम्मच हल्दी का पाउडर को मिला लें और उसे हल्का गर्म कर लें।
  • हल्दी मिक्स गर्म पानी से दिन में 20 से 25 बार गरारे करें।

5. धनिया पत्ता

सब्जियों के सुगंध के लिए इसके पत्ते इस्तेमाल किए जाते है। दो चार धनिये के पत्ते दाने को हल्के से निचोड़ कर उसका रस को सीधे छाले में लगाए।

6. चमेली से करें इलाज

जैस्मिन में लाल रंग के छोटे-छोटे फूल गुचे के रूप मे होते है। चमेली के पत्ते को पीस कर उसके रस को छाले वाले जगह में लगाने से चले कम हो जाते है।

7. बर्फ के टुकड़े असरदार

बर्फ के टुकड़े से छाले वाले जगह पर रखने से भी छाला ठीक हो जाता है।

  • बर्फ के छोटे से सिल्ली को मुँह के अल्सर में 20 से 25 सेकेंड तक रखें।
  • इस प्रोसेस को थोड़ा-थोड़ा करके 5-6 बार लगातार करें।

8. तुलसी का पत्ता

रोजाना 2-4 तुलसी के पत्ते को अपने हाथों में मसल लें फिर उसके रस को मुँह में छाले के उप्पर लगाने से आपको शांति मिलेगी।

9. Baking Soda

बेकिंग सोडा या सोडियम बाई कॉर्बोनेट भी मुँह के अलसर से निजात दिला सकता है। असिडिक खाने-पीने से होने वाले छाले में यह बेहद लाभकारी है। छाले के लिए एक छोटे चमच बेकिंग पाउडर में पानी मिलाकर पेस्ट तैयार करें और एफेक्टिव जगह पर लगाए।

10. पान के कत्थे से 

पान में लगने वाला कथा भी मुंह के छाले की समस्या से छुटकारा दिलाने में काफी फायदेमंद होता है। दिन में चार से पांच बार पान के कठे में शहद और मुल्थी को मिश्रण करके छाले पर लगाने से काफी लाभ होता है।

मुंह, जीभ और होठों के छालों का आयुर्वेदिक उपचार और नुस्खे 

  • दो या तीन इलायची को पीसकर उसमे एक चम्मच शहद मिलकर पेस्ट बनायें। फिर इस पेस्ट को छालों वाली जगह पर लगाएं। इससे तुरंत आपको फायदा मिलेगा।
  • मुलेठी में शहद मिलाकर छालों के उप्पर लगाएं और मुँह में लार को बाहर आने दें। यह तरीका मुँह के छालों का रामबाण इलाज है।
  • अमरूद के पत्तों में कत्था लगाकर चबाने से काफी आराम मिलता है। अमरुद के दो से चार पत्तियां को हाथ से मसलकर रस निकालें और छालों वाली जगह पर लगाएं।
  • तीन से चार हरी धनिया की पत्तियों को पीसकर रस निकालें और उसे मुँह के छाले पर लगाने से यह समस्या दूर हो जाती है।
  • अरहर दाल को बारीक पीसकर उसे रोजाना छाले पर लगाएं। ऐसा करने से जीभ होंठ के छाले जल्द ही सही होने लगते हैं।
  • आधा चम्मच नमक को गुनगुने पानी में मिलाएं फिर इस पानी को मुँह में लेकर धीरे-धीरे इधर-उधर घुमाएं। इससे आपको दर्द और जलन से के साथ-साथ चालों से राहत मिलेगी।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *