डिलीवरी के बाद पेट को कैसे कम करें

प्रेगनेंसी के बाद पेट कम करने के आसान तरीके और उपाय: गर्भवस्था के बाद हर महिला के लिए वजन कम करना एक बड़ी चुनौती हो जाती है। ज़्यादातर नई माताओ के लिए गर्भवस्था के दौरान पेट मे वसा एक सबसे बड़ी शिकायत होती है। गर्भवस्था के कारण पेट और शरीर के parts बढ़ने लगते है जिन्हे अपनी पहली अवस्था मे आने मे कुच्छ समय तो लगता ही है।

याद रखे की यह वजन हासिल करने मे 9 महीने लग जाते है तो कुछ दिनों मे पेट को कम इतनी आसानी से नही किया जा सकता है। अगर आप जल्दी ही pregnancy के बाद अपने पेट को कम करना है तो इसके लिए ज़रूरी है की आप अपने बच्चे को जन्म देने के तुरंत बाद exercise और आहार मे परिवर्तन ज़रूरी है। आइए जानते है की किस प्रकार आप अपने डिलीवरी के बाद पेट को कम कैसे कर सकते है। तो चलिए जानते हैं प्रेगनेंसी के बाद पेट कम करने के आसान उपाय एवं घरेलू नुस्खे Reduce Belly fat in Hindi.

डिलीवरी के बाद पेट को कैसे कम करें

डिलीवरी के बाद पेट को कैसे कम करें | Reduce Stomach after Delivery in Hindi

डिलीवरी के बाद, अक्सर हर महिला ये सोचती है की उसका वजन और पेट दोनों जल्दी से कम हो जाये और वो फिर फिट दिखे। ज्यादातर महिलाएं बच्चा होने के बाद भी वे 6-7 महीने गर्भवती जैसी दिखती हैं। इसका कारण यह है की अधिकांश खिंचाव पेट में होता है, इसलिए इसे खोने के लिए अधिक प्रयास और समर्पण की आवश्यकता होती है। आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्यूंकि हम आपको ऐसे घरेलू उपाय एवं देसी नुस्खे बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप अपने शरीर को पहले जैसा फिट और तंदुरुस्त बना सकते हैं।

प्रेगनेंसी के बाद पेट को कम करना चाहते हैं तो बेली रैपिंग करें, यह पेट की मांसपेशियों को टोन करने का सबसे पुराना और प्रभावी तरीका है। नई माताओं के लिए वे चमत्कार भी कर सकते हैं क्योंकि वे उन्हें अपने पीठ दर्द या मुद्रा की समस्या में मदद करते हैं जो आमतौर पर प्रसव के बाद महिलाओं में विकसित होता है। आप अपने पेट के चारों ओर साधारण सूती कपड़े या ‘डुप्टा’ लपेटकर इसे आज़मा सकते हैं या फिर बाजार में उपलब्ध बेल्ट के बहुत सारे हैं।

कुकीज़, कैंडीज, सोडा, चिप्स और चॉकलेट जैसी खाली कैलोरी खाने से बचें। आपको कार्बोहाइड्रेट खपत से सावधान रहना चाहिए क्योंकि वे चीनी में परिवर्तित हो जाते हैं और वसा अनुकूल क्षेत्रों में व्यवस्थित होते हैं। स्वस्थ खाद्य पदार्थों जैसे पूरे अनाज और कम वसा वाले डेयरी उत्पादों के साथ अपना आहार भरने का प्रयास करें।

आहार योजना का पालन करें: अपने डॉक्टर से बात करें और बच्चे के स्वास्थ्य से समझौता किए बिना योजना का पालन करें। स्वस्थ खाद्य पदार्थों से शुरू करें जो चयापचय दर में वृद्धि करते हैं और शरीर में वसा को भरने से रोकते हैं। याद रखें, आहार का पालन करके आकार में आने के लिए आपको अपने बच्चे के स्वास्थ्य से समझौता नहीं करना चाहिए।

बहुत अधिक तनाव लेना वजन बढ़ सकता है। यही कारण है कि आपको हर समय अपने बच्चे के आस-पास खुश और तनाव मुक्त रहने की आवश्यकता होती है और अपने हार्मोन को संतुलन में रखें।

दालचीनी चाय: बिस्तर से पहले दालचीनी चाय पीना और नाश्ता करने से पहले उस जिद्दी पेट वसा को जलाने में भी मदद मिल सकती है। गर्म पानी में दालचीनी के आधे चम्मच जोड़ें और concoction पीते हैं। असल में, दालचीनी वसा जलती हुई गुणों के लिए जाना जाता है, इसलिए आप अपने नियमित चाय, कॉफी और यहां तक कि कॉर्नफ्लेक्स में दालचीनी द्वारा चीनी को प्रतिस्थापित कर सकते हैं!

डिलीवरी के बाद पेट कम करने के उपाय एवं घरेलू नुस्खे

आजकल के लाइफ में गर्भावस्था के बाद महिलाए ही नही बल्कि बहुत से लोग मोटापे से परेशान हैं। मोटापा हमारे दैनिक दिनचर्या का बदलाव होने के कारण है। मोटापा को दूर करने करने का अच्छा सुझाव है की रोजाना शुबह running, exercise, योगासन करें। तो चलिए जाने डिलीवरी के बाद पेट को कम कैसे कम करें।

दालचीनी, लौंग जल

गर्भवस्था के बाद पेट को कम करने के लिए दालचीनी और लौंग का मिश्रण बहुत ही उपयोगी होता है. यह जल्दी ही आपके fat को burn करता है और आपको पहली अवस्था मे लता है. इसके लिए आपको रोजाना 5-10 मिनट के लिए 2 लीटर / 8 गिलास पानी में 3 इंच लंबे 1 छड़ी दालचीनी और 2-3 लौंग (लहन) उबालें। प्रसव के बाद पहले 40 दिनों के लिए इस पानी को गर्मियों में सर्दियों में ठंडा और गर्मियों में ठंडे पानी के बजाय सादा पानी से पीना। आप स्वाद को बढ़ाने के लिए इसमे शहद को भी जोड़ सकते हैं। दालचीनी के प्रभाव शरीर में किसी और की तुलना में पेट की चर्बी पर बेहतर काम करने के लिए पाए गए हैं और यह 2-3 सप्ताह के भीतर स्वाभाविक रूप से अपने पेट को कम कर देगा।

मेथी के बीज का पानी

मेथी के बीज का पानी ना सिर्फ़ आपके शरीर के विषाक्त पदार्थो को दूर करता है बल्कि वजन को कम करने मे आपको बहुत मदद करता है मेथी के बीज पूरे वसा burner होते है. इन्हे प्रजनन संबंधी विकार वाले महिलाओ के कई उपचारो के लिए उपयोग मे लिया जाता है. मेथी महिला हार्मोन संतुलित करेगी और आपका पेट सपाट हो जाएगा। मेथी के बीज से पेट को कम करने के लिए आप रात मे 1 चमच मेथी के बीज को 2 लिटेर यानी 8 गिलास पाने मे डालकर 5-10 मिनिट तक उबाल ले. और रोजाना पीते रहे. देखत ही देखते आपका पेट जल्दी ही कम होने लगेगा.

पेट को लपेटना

पेट को लपेटना सबसे पुराना और प्रभावशाली तरीका है. यह आपके पेट को मसपेशियो को ट्यूनिंग करता है. पेट पर बेल्ड लगाने से गर्भाशय को अपने सामानया आकर मे फिर से हासिल करने मे मदद करता है. जो नई माताए है उनके लिए तो यह बहुत ही असरदार होता है. क्यूंकि pregnancy के बाद महिलाओ के पीठ दर्द और कोई normal समस्या के समाधान के लिए बहुत ही उउपयोगी होता है. आप अपने पेट के आस-पास साधारण सूती कपड़े या ‘dupatta’ से लपेटकर कोशिश कर सकते हैं या फिर बहुत सारे belt हैं जो बाजार में उपलब्ध हैं.

खाली कैलोरी से बचें

खाली कैलोरी वाले products जैसे cookies, soda, chips और chocolate को नही खाए. पूरे आहार और कम वसा वाले पदार्थो मे आप dairy उत्पादों को ले सकते है, स्वस्थ खाद्य पदार्थों के साथ अपने आहार को भरने की कोशिश करें.

स्तनपान कराये

यह जानकार आपको बड़ा आश्चर्य होगा कि स्तनपान करने से आपका पेट कैसे कम हो सकता है. लेकिन अध्ययन से पता चला है की स्तनपान कराना जितना फयदेमंद आपके बच्चे के लिए होता है उतना ही अच्छा आपके लिए भी होता है. क्यूंकि जब आप स्तनपान कराते है तो आपके शरीर मे मौजूद fat cells और आपकी diet मे से कुछ calories मिलकर दूध का निर्माण करती है.

Green Tea

Green tea हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी होता है. यह वसा को कम करने मे बहुत लाभकारी होता है. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमें anti-oxidant होते हैं जो कि मुक्त कण से कोशिकाओं की रक्षा करते हैं और शरीर के चयापचय को बढ़ावा देते हैं जो वजन घटाने की सुविधा प्रदान करते हैं। अगर आप व्यायाम करने के बाद green tea पिए तो इससे आपके पेट के वजन घटाने परिणामों में काफी सुधार हो सकता है

गरम पानी 

ये नही है की आप गरम पानी केवल गर्भवस्था के दौरान ही ले अगर आप इसे रोजाना अपने दिनचर्या मे लेते है तो आप निरोगी रहेंगे. पानी को गर्म करने से विषाक्त पदार्थ पानी से बाहर निकल जाते है. इससे हमारे शरीर का तापमान भी बढ़ाता है जिससे चयापचय दर में वृद्धि हो जाती है और चयापचय दर ज़्यादा होने से अधिक कैलोरी जलता है। जब भी आप प्यासे हों तो गर्म पानी पीने की कोशिश करें, आप इसमें नींबू जोड़ सकते हैं, एक गिलास गर्म पानी पी सकते हैं और नींबू वसा के ऊतक के टूटने में मदद मिलेगी.

व्यायाम करें

Gym हम कुछ ही दिन कर सकते है लेकिन अगर हम हल्का exercise रोजाना करे तो इससे हमारे शरीर को कभी लाभ मिलता है. व्यायाम हमारे शरीर को fit रखता है. गर्भवस्था के बाद अगर आपका शरीर तैयार है तो आप कुछ पेट exercise करना शुरू करे. इसके लिए आप प्राणनायाम कर सकते है. क्यूंकी यह हमारे पेट की मांसपेशियों को toning में काफी फायदेमंद और प्रभावी है।

मसालेदार पदार्थ

मसालो के बिना हमारे ख़ान-पान मे स्वाद नही आता है. मसाले न केवल आपके स्वाद को सुधारते हैं बल्कि ये आपके पेट के वजन को कम करने में भी असरदार काम कर सकते है. मसालो मे आप दालचीनी, हल्दी, काली मिर्च, लम्बे काली मिर्च जैसे मसालों को शामिल करने से पाचन में सुधार आता है जिससे हमारे शरीर के अंदर वसा के संचय को रोकने में मदद मिलती है।

तनाव से बचे

आज की ज़िंदगी मे तनाव एक आम बात हो गई है चाहे बच्चे हो या बूढ़े सबको किसी ना किसी तरह की टेन्षन रहती है. प्रेग्नेन्सी के बाद अगर आप stress मे रहते है तो इससे आपको बहुत नुकसान होगा. तनाव मे रहने से आपको थकान, चिड़चिड़ापन और वजन घटाने मे समस्या हो सकती है. जब आपका बच्चा नींद ले रहा है, तो सोने की कोशिश करें तो आपके शरीर को तनाव हार्मोन को कम में मदद मिलेगी और आप भावनात्मक रूप से बेहतर महसूस कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here