बुद्ध पूर्णिमा शुभकामनायें 2022 और अनमोल विचार

बुद्ध पूर्णिमा भगवान बुद्ध के जन्म के उपलक्ष्य में मनाई जाती है। हर साल हिंदू चंद्र कैलेंडर के आधार पर बुद्ध पूर्णिमा मनाई जाती है। इस साल बुद्ध पूर्णिमा 16 मई (सोमवार) को दुनिया भर में मनाई जा रही है। बौद्ध परंपराओं के अनुसार, राजकुमार सिद्धार्थ गौतम, जिन्हें बाद में गौतम बुद्ध के नाम से जाना जाता था, का जन्म 623 ईसा पूर्व नेपाल के तराई क्षेत्र में लुंबिनी में हुआ था।

बुद्ध पूर्णिमा का दिन बुद्ध अनुयायियों के लिए सबसे विशेष होता है। इस लेख में हम भी महात्मा बुद्ध के अनमोल विचारों को पढ़ेंगे और यहाँ आपको बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामना सन्देश और Buddha Purnima Wishes in Hindi भी मिलेंगी।

बुद्ध पूर्णिमा शुभकामनायें 2022

प्रभु का हाथ आपके सर पर हो सुख समृद्धि
आपके दर पर हो जो आप चाहे वो जरूर पाए।

मन में बसे सुख और शांति उन्नति के साथ मिले
विश्रांति जीवन में भरा रहे ढेर सारा प्यार।

अज्ञानी आदमी एक बैल के समान है
वह ज्ञान में नहीं, आकार में बढ़ता है
बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनायें

किसी के प्रति नफरत और ईर्ष्या रखने से जीवन
में कोई भी खुशी नहीं प्राप्त की जा सकती।
ईर्ष्या व्यक्ति के मन की शांति को खत्म कर देती है।

बुद्ध पूर्णिमा सन्देश

अवसर आया है शांति का,
आया है प्यार का त्योहार,
जिसने दी हमें शांत और प्यार,
ऐसे भगवान का आज है त्योहार।
बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएं।

सुख, शांति और समाधान
श्रद्धा और अहिंसा के दूत को
आज तहे दिल से प्रणाम।
हैप्पी बुद्ध पूर्णिमा 2022

बुद्ध के ध्यान में मगन है
सबके दिल में शांति का वास है
तभी तो ये बुद्ध पूर्णिमा
सबके लिए इतनी खास है
बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएं

बुद्ध पूर्णिमा अनमोल विचार

शांति और अहिंसा के दूत भगवान बुद्ध को नमन
बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएं

ज्ञान में है असीम शांति
सदा रहे प्रभु का ध्यान
यही कहती है बुद्ध की पाती
बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएं।

बुद्ध जयंती के पावन मौके पर आपको
मन की शांति मिले प्रेम और श्रद्धा के फूल हर दिन आपके मन में खिले।

बुद्धं शरणं गच्छामि। धम्मं शरणं गच्छामि।
संघं शरणं गच्छामि। बुद्धं शरणं गच्छामि।
बुद्ध पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं।

दुनिया में तीन चीज़ें ज्यादा समय तक छिपी नहीं रह सकतीं
सूर्य चन्द्र और सच

जिस व्यक्ति को दूसरों से इर्ष्या करने में आनंद आता हो,
उसे कभी शांति नहीं मिल सकती

आपके विचारों में ही सबसे ज्यादा ताकत है
आप जैसा सोचते हैं, ठीक वैसा बन जाते हैं

Buddha Purnima Wishes in Hindi

प्रेम, सेवाभाव और शांति यही है
भगवन बुद्ध की दिशा
इस बुद्ध जयंती पर करते हैं आपकी खुशहाली की आशा

आप कितने भी पवित्र शब्द बोल लो या सीख लो
लेकिन जब तक आप इस पर अमल नहीं करोगे
तब तक आपको कोई फायदा नहीं होने वाला
बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनायें

जो समय आपका बीत गया, कभी वापस नहीं आता
बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनायें

गौतम बुद्ध कौन थे?

गौतम बुद्ध, एक दार्शनिक जिन्होंने बोधगया में बोधि (बरगद) के पेड़ के नीचे 49 दिनों के निर्बाध ध्यान के बाद ‘दुख’ को समाप्त करने की कुंजी की खोज की। वह वह था जिसने दावा किया था कि ‘चार महान सत्य’ समाधान रखते हैं। 27 वर्ष की उम्र में गौतम बुद्ध संन्यासी बन गए। भगवान बुद्ध ने ही बौद्ध धर्म की स्थापना की थी और अपना पहला उपदेश सारनाथ में दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here