काजू के चमत्कारी फायदे एवं नुकसान – Kaju Benefits and Side-Effects in Hindi

जहाँ dry food की बात वहां काजू का नाम सबसे उप्पर आता है। इसे ड्राईफ्रूट का राजा माना जाता है। यह जितना अच्छा खाने में स्वादिष्ट होता है उतने ही ज्यादा इससे भरपूर पौष्टिक तत्व हमारे शरीर को मिलते हैं। काजू में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, ज़िंक और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होता है इसी की वजह से यह हार्ट प्रॉब्लम, अनीमिया और जोड़ों के दर्द जैसी कई बिमारियों से बचने में मदद करता है। काजू का इस्तेमाल मिठाइयों और भी पकवानों का स्वाद को मजेदार बनाने के लिए किया जाता है। इसके सेवन से जहाँ कई बीमारियां दूर होती हैं वही त्वचा पर भी अच्छा असर पड़ता है। इससे दिमागी पावर और शरीर मजबूत होता है। इसका प्रयोग आजकल के समय में सब्जियों और पकवानों की ग्रेवी बनाने में की जाती है। शाकाहारी व्यक्तियों के लिए यह प्रोटीन का अच्छा स्रोत है। इससे हमारे शरीर को कई फायदे हैं तो चलिए जानते हैं काजू के चमत्कारी फायदे एवं नुकसान – Kaju Benefits and Side-Effects in Hindi

के गुण चमत्कारी फायदे एवं नुकसान Cashew Kaju Benefits and Side Effects in Hindi
काजू खाने से लाभ

काजू खाने से फायदे – Health Benefits of Cashew in Hindi

हड्डियों को मजबूत करे

काजू में मौजूद कैल्शियम और मैग्नीशियम हड्डियों को अंदर से मजबूती देते हैं। इसमें मौजूद प्रोटीन हड्डियों को नयी ऊर्जा देने में बहुत मदद करता है। रोजाना 10 बादाम भी शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। कुश्ती लड़ने वाले पहलवान रोजाना 100 बादाम कहते हैं तभी उनमे इतनी ताकत आती है।

वजन को कंट्रोल करने में सहायक

अगर आप अपने वजन को लेकर काफी परेशान हैं तो काजू आपके वजन को नियंत्रित करने में अहम् भूमिका निभा सकता है अगर आप नियमित रूप से सिमित मात्रा में इसका सेवन करते हैं। काजू में Dietary fiver और एनर्जी ज्यादा होने के कारन यह वजन को करते करने में सहायक होता है।

थकान दूर करे

ऊर्जा का एक अच्छा स्रोत होने के नाते काजू का सेवन करने से आपको एक नयी ऊर्जा मिलती है। इसे कोई भी बच्चा बूढ़ा जवान खा सकता है। इसको सिमित मात्रा में खाने से कोई नुक्सान नहीं हैं लेकिन अगर आप ज्यादा खा रहे हैं तो आपको व्यायाम करना भी जरूरी है। कई बार आप कोई भी काम किये बिना थकन महसूस करते हैं ऐसे में आप काफी परेशान होते हैं। ऐसे में अगर आप २ से ३ काजू जबायें तो थकन जल्दी ही दूर हो जाएगी।

दिमाग तेज करे

हमें हर कोई यही सुझाव देता है की दिमाग को शातिर बनाने के लिए काजू खाएं। क्यूंकि बादाम में विटामिन bi और फोलिक एसिड भरपूर होता है इसके अलावा इसमें कई शक्तिशाली पौष्टिक पोषक तत्व होते हैं जो दिमाग को तेज करने में काफी मददगार होते हैं। अगर आप काजू को दूध के साथ कहते हैं तो यह आपके स्मरण शक्ति को दोगुना बढ़ा देगा।

दिल को स्वस्थ बनाये

काजू में फोलिक एसिड नमक तत्व होता है जो हमारे ह्रदय को स्वस्थ बनाने के लिए एक अच्छा स्रोत है। इसमें फोलिक एसिड के अलावा आयरन, मैग्नीशियम, ज़िंक, छोपेर जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं जो बॉडी में खून की प्लेट्स और दिल की मांसपेशियों को सही करने में मदद करते हैं। इससे हमारा ब्लड शरीर में सही तरीके से चलता रहता है।

कैंसर रोग से बचाये

काजू में एंटी-ऑक्सीडेंट्स जैसे विटामिन E और सेलेनियम होते हैं जो कैंसर जैसी भयानक बीमारी को भागने में मदद करती है। इसमें मौजूद ज़िंक हानिकारक संक्रमण से लड़ने की छमता शरीर को देता है।

ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करे

सोडियम की कम मात्रा और पोटेशियम की अधिकता होने के कारन यह रक्त संचरण को काबू में करने के लिए अच्छा स्रोत है। जब शरीर में सोडियम की मात्रा अधिक होती है तो यह शरीर पानी की कमी होने लगती है जिससे रक्तचाप बढ़ने लगता है ऐसे में अगर आप काजू का सेवन करते हैं तो आपको इस परेशानी से उलझना नहीं पड़ेगा।

त्वचा को गोरा और मुलायम करे

काजू में भरपूर प्रोटीन होता है जिसके कारण यह बाल और त्वचा को निखारने में काफी मददगार होता है। त्वचा को सुन्दर बनाने के लिए आप काजू को भिगोकर उसके बारीक़ पीसकर अपने चेहरे पर लगा सकते हैं इससे चेहरे पर एक सुन्दर ग्लो आती है। यदि आपकी त्वचा ऑयली है तो आप काजू को रातभर दूध में भिगोने रख दें। सुबह उसे बारीक़ पीसकर उसमे मुल्तानी मिटटी, नीबूं या दही की थोड़ी मात्रा मिलाएं और अपने चेहरे पर लगाएं। इसके प्रयोग से आपके चेहरे के दाग धब्बे भी दूर होने लगेंगे।

डायबटीज़ दूर करे

मधुमेह से परेशांन लोगों के लिए काजू खाना काफी लाभकारी सिद्ध होता है। मोंट्रियल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया कि काजू इन्सुलिन की मात्रा को बढ़ता है और मधुमेह को नियंत्रित करता है। ज्यादा नहीं कम से कम आप 2 से 4 काजू रोजाना खा सकते हैं।

एनीमिया की बीमारी में फायदेमंद

काजू में पाया जाने वाला छोपेर शरीर में एंजाइम एक्टिविटी, हारमोन्स और दिमागी सेल्स को बैलेंस करने में मदद करता है। कॉपर शरीर में ब्लड के लाल सेल्स को बढ़ने में मदद करता है जिससे अनीमिया की बीमारी दूर होने लगती है।

काजू खाने से नुकसान – Kaju khane se Nuksan in Hindi

  • अगर आप काजू का सेवन ज्यादा करते है तो आपको नकसीर की प्रोब्लम हो सकती है।
  • अगर आप काजू का सेवन ज्यादा करते है तो आपको नकसीर की प्रोब्लम हो सकती है।
  • काजू में कैलोरी अधिक मात्रा में होती है, इसलिए इसे ज्‍यादा खाने से बचें, क्‍योंकि इससे आपका वजन बढ़ सकता है।
  • अगर आपको दस्त की प्रोब्लम है तो आपको काजू का इस्तेमाल नही करना चाइए।
  • अगर आपको माइग्रेन या सिरदर्द की प्रॉबलम हाओ तो भी इसके इस्तेमाल से बचे क्योकि इसमे मौजूद अमीनो एसिड सिरदर्द का कारण बन जाता है।
  • जिन लोगो को मधुमेह है उनको इसके इस्तेमाल से बचना चाहिए क्योकि इसमे मौजूद शर्करा से परेशानी हो सकती है।
  • काजू के अधिक सेवन से बचना चाहिए क्‍योंकि यह ऑक्‍सालेट (Oxalate) सामग्री की वजह से किडनी या पित्‍त की पथरी के गठन जैसी स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं का कारण हो सकता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here