Dr Sarvepalli Radhakrishnan Quotes in Hindi ! डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के प्रेरक कथन

Dr Sarvepalli Radhakrishnan Hindi Quotes: डॉक्। सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितम्बर 1888 में तमिलनाडु के तिऋत्टनी में हुआ था। वे एक फिलॉसफर और प्रोफेसर थे। वे भारत के दूसरे राष्ट्रपति बने, उन्हे 1954 को भारत रत्न से नवजीत किया गया। राधाकृष्णन was nominated for the Nobel Prize for Literature for five consecutive years from 1933–1937, although he did not win. His B’day is celebrated as Teachers’ Day (शिक्षक दिवस).

Sarvepalli Radhakrishnan Quotes on Relation in Hindi with Images

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के अनमोल विचार

Quote 1: ज्ञान हमें शक्ति देता है, प्रेम हमें परिपूर्णता देता है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 2: जीवन का सबसे बड़ा उपहार एक उच्च जीवन का सपना है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 3: एक साहित्यिक प्रतिभा , कहा जाता है कि हर एक की तरह दिखती है, लेकिन उस जैसा कोई नहीं दिखता.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 4: हमें मानवता को उन नैतिक जड़ों तक वापस ले जाना चाहिए जहाँ से अनुशाशन और स्वतंत्रता दोनों का उद्गम हो.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 5: धन, शक्ति और दक्षता केवल जीवन के साधन हैं खुद जीवन नहीं.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 6: जीवन को बुराई की तरह देखता और दुनिया को एक भ्रम मानना महज कृतध्नता है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 7: शिक्षा का परिणाम एक मुक्त रचनात्मक व्यक्ति होना चाहिए जो ऐतिहासिक परिस्थितियों और प्राकृतिक आपदाओं के विरुद्ध लड़ सके.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 8: किताब पढना हमें एकांत में विचार करने की आदत और सच्ची ख़ुशी देता है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 9: कवी के धर्म में किसी निश्चित सिद्धांत के लिए कोई जगह नहीं है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन

Sarvepalli Radhakrishnan Anmol Vichar - Suvichar

Quote 10: कहते हैं कि धर्म के बिना इंसान लगाम के बिना घोड़े की तरह है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 11: यदि मानव दानव बन जाता है तो ये उसकी हार है , यदि मानव महामानव बन जाता है तो ये उसका चमत्कार है .यदि मनुष्य मानव बन जाता है तो ये उसके जीत है .

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 12: भगवान् की पूजा नहीं होती बल्कि उन लोगों की पूजा होती है जो उनके के नाम पर बोलने का दावा करते हैं.पाप पवित्रता का उल्लंघन नहीं ऐसे लोगों की आज्ञा का उल्लंघन बन जाता है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 13: दुनिया के सारे संगठन अप्रभावी हो जायेंगे यदि यह सत्य कि प्रेम द्वेष से शक्तिशाली होता है उन्हें प्रेरित नही करता.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 14: केवल निर्मल मन वाला व्यक्ति ही जीवन के आध्यात्मिक अर्थ को समझ सकता है. स्वयं के साथ ईमानदारी आध्यात्मिक अखंडता की अनिवार्यता है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 15: उम्र या युवावस्था का काल-क्रम से लेना-देना नहीं है. हम उतने ही नौजवान या बूढें हैं जितना हम महसूस करते हैं. हम अपने बारे में क्या सोचते हैं यही मायने रखता है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 16: पुस्तकें वो साधन हैं जिनके माध्यम से हम विभिन्न संस्कृतियों के बीच पुल का निर्माण कर सकते हैं.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 17: शांति राजनीतिक या आर्थिक बदलाव से नहीं आ सकते बल्कि मानवीय स्वभाव में बदलाव से आ सकती है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 18: धर्म भय पर विजय है; असफलता और मौत का मारक है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 19: राष्ट्र, लोगों की तरह सिर्फ जो हांसिल किया उससे नहीं बल्कि जो छोड़ा उससे भी निर्मित होते हैं.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन

Inspiring Quotes By Sarvepalli Radhakrishnanwith Images

Quote 20: कला मानवीय आत्मा की गहरी परतों को उजागर करती है. कला तभी संभव है जब स्वर्ग धरती को छुए.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 21: हर्ष और आनंद से परिपूर्ण जीवन केवल ज्ञान और विज्ञान के आधार पर संभव है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 22: मानवीय जीवन जैसा हम जीते हैं वो महज हम जैसा जीवन जी सकते हैं उसक कच्चा रूप है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 23: कोई भी जो स्वयं को सांसारिक गतिविधियों से दूर रखता है और इसके संकटों के प्रति असंवेदनशील है वास्तव में बुद्धिमान नहीं हो सकता.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 24: मौत कभी अंत या बाधा नहीं है बल्कि अधिक से अधिक नए कदमो की शुरुआत है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 25: लोकतंत्र सिर्फ विशेष लोगों के नहीं बल्कि हर एक मनुष्य की आध्यात्मिक संभावनाओं में एक यकीन है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 26: आध्यात्मक जीवन भारत की प्रतिभा है.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन


Quote 27: मानवीय स्वाभाव मूल रूप से अच्छा है, और आत्मज्ञान का प्रयास सभी बुराईयों को ख़त्म कर देगा.

~~सर्वपल्ली राधाकृष्णन

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *