चक्रासन योग कैसे करें: विधि, लाभ एवं सावधानियां

चक्रासन योग का एक महत्वपूर्ण आसन है। चक्रासन योग पीठ के बाल किया जाने वाला एक इंपॉर्टेंट योगासन है। चक्रासन 2 शब्द से मिलकर बना है – चक्र का अर्थ पहिया होता है और आसन से मतलब है योग मुद्रा। इस आसन को करते समय आदमी के शरीर की पोज़िशन एक पहिए की तरह होती है। इसलिए इसे चक्रासन कहते है। इसे वील पोज़ के नाम से भी जाना जाता है। इसके अलावा यह धनुरासन के बिल्कुल बिपरीत होता है इसलिए इसे अधवा धनुरासन के नाम से भी जाना जाता है। वैसे तो चक्रासन के बहुत सारे लाभ है फिर भी अगर आपको अपनी बुढ़ापे को रोकना है और जवानी बरकरार रखना हो तो चक्रासन योग का अभ्यास ज़रूर करें। तो चलिए जानते हैं चक्रासन योगा कैसे करें, इसे करने से लाभ और सावधानी के बारे में। Chakrasan yoga in hindi.

Chakrasana Yoga Vidhi, Labh aur savdhani

चक्रासन योग विधि Chakrasana Yoga Steps in Hindi

Chakrasana yoga karna itna aasan nhi hai, lekin yaha ham aapko bahut hi saral tarke se iske bidhi ko samjhane ja rahe hai jo ki kafi madadgar sabit hoga.

Step 1: सबसे पहले आप पीठ के बल किसी समतल जगह पर दरी या चटाई बिछाकर बैठ जाएँ।

Step 2: घुटने मोड और एड़ियों को नितंबों से छूटे हुए पैर को 10-12 इंच की दूरी पर रखें।

Step 3: बाहों को उठायें और कोहनी मोड़ लें।

Step 4: हथेलियों को कंधे के उप्पर सिर के निकट ज़मीन पर रख लें।

Step 5: अब आप साँस अंदर की ओर लें और धीरे-धीरे धड़ को उठाते हुए पीठ को मोड़ें।

Step 6: धीरे से सिर को लटकता छोड़ दें और बाँहों और पॉ को यथासंभव तान लें।

Step 7: धीरे-धीरे सांस लें और धीरे-धीरे साँस छोड़ें।

Step 8: इस प्रोसेस को आप तब तक करें जब तक आपको लगे आप कर सकते हैं।

Step 9: इसके बाद शरीर को इस तरह नीचे करते हुए पहली पोज़िशन में लौटे की सिर ज़मीन पर ही टीका रहें। शरीर के एक्सट्रा भाग को नीचे लाएं और आराम करें।

इस तरह से आपका एक चक्र पूरा हुआ। ऐसे ही आप 5-6 बार इस योग को कर सकते है।

चक्रासन योग से लाभ – Chakrasana Benefits in Hindi

  1. चक्रासना योगा के बहुत से फायदे हैं। यहाँ पर हम आपको कुच्छ खास लाभों के बारे में बताने जा रहे हैं। लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि आप इस योगासन से ज़्यादा से ज़्यादा लाभ उठा सकते हैं।
  2. चक्रासना योग पेट की चर्बी को दूर करने के लिए एक बेहतर योग मुद्रा है। इस आसन में इतनी छमता है कि यह आपके पेट की चर्बी को कम करते हुए इसे फ्लैट कर दे। एक हफ्ते के अंदर ही आपको इसके अच्छे नतीजे सामने आने लगेंगे।
  3. बुढ़ापे को रोकने और जवान दिखने के लिए यह योगासन चमत्कारी प्रभाव देता है।
  4. चेहरे पर निखार लाने के लिए यह योगासन बहुत ही लाभकारी है। चूँकि जब हमारा सिर नीचे की लटकता है तो हमारा ब्लड ज़्यादा तेज फ्लो होता है जिसकी वजह से हमारे चेहरे पर निखार आती है।
  5. अगर आपका पाचन तंत्र सही नहीं है तो आपको चक्रासन योग करना लाभकारी है।
  6. शरीर को फुर्तीला बनाने के लिए यह योगा लाभकारी है।
  7. दौड़-भरी ज़िंदगी में ज़्यादातर लोग स्पाइन की प्रॉब्लम्स से जूझ रहे होते है। लेकिन इस योगा के अभ्यास से आपको मेरुदण्ड की हर प्रॉब्लम्स से निजात मिल जाएगी। साथ ही यह आपके रीढ़ की हड्डी को लचीला और मजबूत बनाता है।
  8. यह योगा हृदय को स्वस्थ बनाता है।
  9. कमर के मोटे होने से परेशान हैं तो चक्रासन करें।

चक्रासन में सावधानी

  • ज़्यादा हाइ ब्लड प्रेससूर वाले व्यक्ति इस आसन को करने से बचें।
  • हृदय की समस्या में इस योग मुद्रा को नहीं करें।
  • इस आसन को करना थोड़ा कठिन है कभी भी ज़बरदस्ती नही करनी चाहिए।
  • चक्कर आने की पोज़िशन में इस योग को नहीं करें।
  • ज़्यादा कमर दर्द पर इसका अभ्यास मत करें।
  • हर्निया, नेत्र दोष और गर्दन की दर्द वाले इसे न ही करें।
  • जो चक्रासना नहीं कर पाए उन्हें अर्धचक्रासन योगा करना चाहिए।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *