शवासन योग कैसे करें: विधि, लाभ एवं सावधानियां

बहुत ज़्यादा काम करने के कारण या फिर किसी तरह के मानसिक तनाव के कारण सिरदर्द और थकान जैसी समस्याएं होने लगती है। निराशा, हताशा, चिंता सताती रहती है। ऐसे में यदि आप रोज श्वासन योग करते है तो यक़ीनन आप इन प्रॉब्लम्स से दूर रहेंगे। शरीर में मानसिक और शारीरिक थकान दूर करने के लिए श्वासन योग सबसे एफेक्टिव आसन है। यह दिमाग़ को क्रियाशील बनता है और तार्किक मजबूत करता है। श्वासन योग एक ऐसा आसन है जिसमे नॉर्मल रूप से लेटना पड़ता है। यह आसान कई गंभीर रोगों को भी शरीर पर नहीं लगने देता है। तो चलिए जानते हैं शवासन योग विधि, फायदे एवं सावधानियां। Savasan yoga steps and benefits in hindi.

Savasana Yog Kaise Kare aur Iske Fayde Labh

शवासन योग विधि – Savasana Yoga Steps in Hindi

Step 1: पीठ के बाल लेट जाएँ और दोनों पैरों में डेढ़ फुट का अंतर रखे। दोनों हाथों को शरीर से 6 इंच (15 सेमी) की दूरी पर रखें। हथेली की दिशा उप्पर की ओर होगी। सिर को सहारा देने के लिए तौलिया या किसी कपड़े को दोहरा कर सिर के नीचे रख सकते हैं। इस दौरान यह ध्यान रखें कि सिर सीधा रहे।

Step 2: शरीर के सभी अंगो को ढीला छोड़ दें। आँखो को कोमलता से बंद कर लें। श्वासन करने के दौरान किसी भी अंग को हिलना-डुलाना नहीं है। आप अपनी सजगता को साँस की ओर लगाए और उसे अधिक से अधिक लयबद्ध करने का प्रयास करे। गहरी साँसे भरे और साँस छोड़ते हुए ऐसा अनुभव करें कि पूरा शरीर शिथिल होता जा रा है। शरीर के सभी अंग शांत हो गये है।

Step 3: कुछ देर साँस की सजगता को बनाए रखें। आँखे बंद ही रखे और भौं के मॅढिया जगह पर में एक ज्योति का प्रकाश देखने का प्रयास करे।

Step 4: यदि कोई विचार मन में आए तो उसे साक्षी भाव से देखें, उससे जुड़िये नहीं उसे देखते जाए और उसे जाने दें। कुछ ही पल में आप मानशिक रूप से भी शांत और तनाव रहित हो जाएँगे।

Step 5: आँखे बंद रखते हुए इसे अवस्था में आप 10 से 1 या 25 से 1 तक उल्टी गिनती गिने। एग्ज़ॅंपल के तौर पर “मैं साँस ले रहा हूँ 10, में साँस ले रा हूँ 9” इसी तरह से 0 तक गिनती को मन ही मन गिने।

Step 6: यदि आपका मन भटक जाए और आप गिनती भूल जाए तो दोबारा उल्टी गिनती स्टार्ट करें। साँस की सजगता के साथ गिनती करने से आपका मन थोड़ी देर मे शांत हो जाएगा।

शवासन योग से लाभ – Savasana Benefits in Hindi

1- आरामदायक अवस्था में होने के कारण श्वासन करने से शरीर तनाव से मुक्त हो जाता है और ब्लड प्रेशर अच्छी तरह से प्रवाहित होने लगता है।

2- बिना किसी ज़्यादा मेहनत के आप श्वासन योग से आप मन को शांत कर सकते है। शवासन से आपका मन शांत और एकाग्र होता है।

3- सेक्स लाइफ को बेटर बनाने के लिए अच्छे सोच की ज़रूरत होती है। उसके लिए आपके मन को शांत होना ज़रूरी है। मन शांत के लिए शवासन के अलावा क्या बेस्ट हो सकता है।

4-श्वसन करने से दिमाग की कार्य छमता और आत्मविश्वास बढ़ता है।

5- इस आसन से आपका दिमाग़ काफ़ी तेज काम करता है।

6- मधुमेह से बचने के लिए भी यह आसान फायदेमंद है।

7- इस आसन को करने से मानसिक बीमारियां जैसे डिप्रेशन, हिस्टेरिया इत्यादि से लाभ होता है।

श्वसन में सावधानी

1. श्वसन करते टाइम आँखे खुली हुए नहीं होनी चाहिए। आँखे हमेशा बंद रखे ताकि मन को शांति मिले।

2. शरीर को बिल्कुल भी टाइट नहीं रखें, इसे ढीला छोड़ दें। साँस की पोज़िशन में शरीर को हिलना भी नहीं चाहिए।

3. श्वसन करते टाइम अपने अंदर ऐसा कोई विचार न आने दें जिससे आपको मानसिक तनाव हो। आपके ध्यान को साँस की ओर लगाकर रखें।

One Comment

Leave a Reply to PRADYOT KUMAR Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *