Draupadi Murmu Biography In Hindi: भारत की दूसरी महिला राष्ट्रपति का जीवन परिचय

भारतीय जनता पार्टी हाल ही में नए राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए द्रोपदी मुर्मू का चयन किया है तभी से द्रोपदी मुर्मू जी के बारे में जानने के लिए लोगो में मन में जिज्ञासा जाग रही है। हम सब उनके जीवन के बारे में जानना चाहते है ताकि हमे अपने होने वाले राष्ट्रपति के बारे में पता लग सके। तो चलिए जानते है द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय, जाति, उम्र, पति, सैलरी, बेटी, बेटा, शिक्षा, जन्म तारीख, परिवार, पेशा, धर्म, पार्टी, करियर, राजनीति, अवार्ड्स इत्यादि।

भारत के नए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की सफलता के पीछे कई संघर्ष हैं। यहां पहुंचने के सफर में उसने तीन बच्चों और अपने पति को खो दिया।

Draupadi Murmu Biography in Hindi
Draupadi Murmu Biography In Hindi 2022: आइए जानते है द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय

ये तो आप सभी लोग जानते है की भारत की प्रथम भारतीय महिला राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल बनी थी। और दूसरी भारतीय महिला राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी बन गयी है।। इसलिए आप सभी को भारत के नए राष्ट्रपति के बारे में जानकारी रखना बहुत ही जरुरी है, तो चाहिए इस सफर पे और आगे पढ़े Draupadi Murmu Biography in Hindi

Table of Contents

द्रौपदी मुर्मू कौन हैं? | Draupadi Murmu Biography in Hindi

द्रौपदी मुर्मू उड़ीसा की आदिवासी महिला नेता हैं जिनका नाम राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले मतदान में एनडीए की ओर से दिया गया था। उन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री, यशवंत सिन्हा के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीत हासिल।

द्रौपदी मुर्मू नेट वर्थ | परिवार | उम्र | योग्यता

वास्तविक नामद्रौपदी मुर्मू
जन्म की तारीख20 जून 1958
आयु64 वर्ष (2022 तक)
जन्मस्थलमयूरभंज , उड़ीसा, भारत
गृहनगरमयूरभंज , उड़ीसा, भारत
पिता का नामबिरंची नारायण टुडु
माता का नामएन/ए
पति का नामश्याम चरण मुर्मु
बेटी का नामइतिश्री
कुल मूल्य11.7 करोड़ रुपये ($1.5 मिलियन)
स्कूलस्थानीय स्कूल, मयूरभंजी
विश्वविद्यालयरमादेवी महिला विश्वविद्यालय
योग्यतास्नातक स्तर की पढ़ाई
राजनीतिक दलभारतीय जनता पार्टी (भाजपा)

द्रौपदी मुर्मू का जन्मदिन और उम्र

द्रौपदी मुर्मू की जन्मतिथि 20 जून 1958 है वर्तमान में इनकी उम्र 64 वर्ष की हैं।

द्रौपदी मुर्मू का जन्म एवं शुरुआती जीवन के बारे जानकारी

इनका जन्म 20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज जिले के बैदापोसी गांव में हुआ था। द्रौपदी मुर्मू आदिवासी संथाल परिवार से ताल्लुक रखती हैं, जो एक आदिवासी जातीय समूह है। इनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू है।

इनकी शादी श्याम चरण मुर्मु से हुई थी, जो अब इस दुनिया में नहीं है। बहुत ही दुःख की बात है उनके दो बेटे थे, जो अब जीवित नहीं है और इनकी एक बेटी है जिसका नाम इतिश्री मुर्मु है।

द्रौपदी मुर्मू की शिक्षा

द्रौपदी मुर्मू ने प्रारम्भिक शिक्षा ओडिशा निजी स्कूल से प्राप्त की। प्रारंभिक पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने रमा देवी महिला कॉलेज, भुवनेश्वर, ओडिशा में दाखिला ले लिया जहाँ से उन्होंने कला में ग्रेजुशन की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद उन्हें ओडिशा सरकार के सिंचाई और बिजली विभाग में एक जूनियर असिस्टेंट यानी कलर्क के रूप में नौकरी मिली।

द्रौपदी मुर्मू का परिवार

इनके पिता का नाम बीरांची नारायण टूडू है तथा संताल आदिवासी फैमिली से संबंध रखते हैं, इनके पति का नाम श्याम चरण मुर्मू है | तथा इनकी पुत्री का नाम इतिश्री मुर्मू है |

पिता का नाम (Father’s Name)स्वर्गीय बिरंची नारायण टुडू
माता का नाम (Mother’s Name)नाम ज्ञात नहीं
पति (Husband )श्याम चरण मुर्मु
बच्चे (Children )पुत्र – 2 (अब जीवित नहीं)
पुत्री – इतिश्री मुर्मु

द्रौपदी मुर्मू का राजनीतिक जीवन

उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत ओडिशी से भाजपा के साथ ही की। भाजपा ज्वाइन करने के बाद 1997 में उन्होंने पार्षद के रूप में स्थानीय चुनाव जीते। उसी वर्ष, वह भाजपा के एसटी मोर्चा की राज्य उपाध्यक्ष बनीं।

जब बीजू जनता दल ने ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन किया, तो वह राज्य की वाणिज्य और परिवहन मंत्री थीं। बाद में, वह मत्स्य पालन और पशु संसाधन विकास विभाग की मंत्री थीं।

वे वर्ष 2006 से वर्ष 2009 तक भारतीय जनता पार्टी के एसटी मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष पद पर रहीं।

मुर्मू ने भारतीय राजनीति के माध्यम से अपना रास्ता बनाया और पहली महिला आदिवासी नेता बनीं क्योंकि वह 2015 में झारखंड की पहली महिला राज्यपाल थीं। उन्हें सर्वश्रेष्ठ विधायक होने के लिए निकंथा पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

मुर्मू ने 18 मई, 2015 को झारखंड के राज्यपाल के रूप में शपथ लेने से पहले दो बार विधायक और एक बार ओडिशा में मंत्री के रूप में कार्य किया था।

झारखंड के राज्यपाल के रूप में उनका 6 साल से अधिक का कार्यकाल न केवल गैर-विवादास्पद रहा, बल्कि यादगार भी रहा। अपना कार्यकाल पूरा होने के बाद, वह 12 जुलाई, 2021 को ओडिशा के रायरंगपुर में अपने गांव के लिए झारखंड राजभवन से निकलीं और तब से वहीं रह रही हैं।

ओडिशा की विधान सभा ने उन्हें राज्य की राजनीति में उनके अविश्वसनीय काम के लिए सम्मानित किया। 2022 में, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने उन्हें आगामी राष्ट्रपति चुनाव 2022 के लिए अपने उम्मीदवार के रूप में चुना। उन्होंने इस चुनाव में जीत हासिल की और वह भारत की पहली आदिवासी राष्ट्रपति बन गयी है

राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू को मिला नीलकंठ पुरस्कार

द्रोपदी मुर्मू को साल 2007 में नीलकंठ पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ विधायक के रूप में प्राप्त हुआ है यह पुरस्कार उड़ीसा विधानसभा के द्वारा दिया गया था |

राष्ट्रपति चुनाव 2022 के लिए मुर्मू का चुनाव

भारत की राष्ट्रपति घोषित होते ही द्रोपदी मुर्मू इंटरनेट की दुनिया में चर्चा में है। आजकल उनके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए बहरत के लोग गूगल पर उनके बारे में सर्च कर रहे हैं द्रोपदी मुर्मू जीवन परिचय के बारे में आप भी जानकारी हासिल कर सकते हैं ताकि दूसरी महिला राष्ट्रपति के बारे आपसे कोई भी पीछे तो आप उनको जानकारी दे सकते है।

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का नेतृत्व वर्तमान केंद्र सरकार की पार्टी, भाजपा कर रही है।

21 जून 2022 को, उन्होंने आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में नामित करने का निर्णय लिया।

भारतीय राष्ट्रपति चुनाव 2022

देश के इतिहास में पहली बार किसी आदिवासी महिला को राष्ट्रपति चुना गया है।राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम में द्रौपदी मुर्मू आधिकारिक तौर पर देश की नई राष्ट्रपति चुनी गई हैं।उन्हें 64% वोटों फीसदी मिले हैं। राष्ट्रपति चुनाव के लिए चुनाव आयोग के राज्यसभा महासचिव और चुनाव अधिकारी ने जब इसकी घोषणा की तो मोदी ने कहा कि द्रौपदी मुर्मू को कुल वोटों का 64 फीसदी वोट मिला है. उन्होंने कहा कि द्रौपदी मुर्मू को 6,76,803 मूल्य के 2824 वोट मिले और यशवंत सिन्हा को 3,80,177 मूल्य के 1877 वोट मिले। द्रौपदी मुर्मू 25 जुलाई को देश के नए राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेंगी।

FAQ:- Draupadi Murmu Biography in Hindi

द्रौपदी मुरमू किस समुदाय से ताल्लुक रखती हैं?

यह उड़ीसा के आदिवासी समुदाय से है।

द्रौपदी मुर्मू के पति का नाम क्या है?

इनके पति का नाम श्याम चरण मुर्मू है।

द्रौपदी मुर्मू कौन है?

वह भारतीय जनता पार्टी (NDA) द्वारा घोषित भारत की अगली राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हैं।

झारखंड की पहली महिला राज्यपाल कौन है?

भारत की पहली आदिवासी महिला राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू जी

द्रौपदी मुर्मू के पिता का नाम क्या है?

द्रौपदी मुर्मू के पिता का नाम बिरंची नारायण टुडु है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here