दाद खाज खुजली होने के कारण, उपचार एवं घरेलू उपाय

खुजली को अंग्रेजी में इचिंग स्किन कहा जाता है। स्किन में खुजलाहट होना, दाद होना आजकल एक नॉर्मल बात हो गई है। जिसका प्रमुख कारण बाजार में बिक रहे बेमतलब के प्रोडक्ट्स, cream का इस्तेमाल करना है। जब भी हमारे शरीर में खाज या खुजली होती है तो हम अपने स्किन को नोचने के लिए मजबूर हो जाते है। स्किन में खुजली की शिकायत के कई कारण हैं। अगर खुजली लगातार हो रही है तो यह लिवर और किड्नी की बीमारी भी हो सकती है। वैसे आमतौर पर skin में Itching clergy, skin reassess और चर्म रोग की वजह से होती है। खुजली पूरे बदन में या किसी खास एक पार्ट में भी हो सकती है। दाद खाज खुजली के कारण, लक्षण और इलाज के घरेलू उपाय

दाद खाज और खुजली का इलाज के घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक दवा

एलोपेथी के अनुसार खुजली, मिकोक्रोब्स यानी बहुत ही छोटे जीवाणुओं के संक्रमण से होती है। कई-कई दिन तक न नहाने, स्किन पर धूल-मिट्टी जमाने से त्वचा में खुजली की शिकायत आम बात है। डॉक्टर्स के मुताबिक खुजली को फ्रीडम रोग नहीं कह सकते है। शरीर के दूसरे रोगों के कारण स्किन dry हो जाता है या ब्लड दूषित होने पर खुजली होती है। Blood infection होने पर फोड़े-फुंसिया निकलती हैं, जिससे खुजली होती है। पेट मे कीड़े होने पर भी खुजली होती है।

दाद खाज और खुजली का क्या होता है?

दाद एक सफ़ेद फुफूद द्वारा होने वाला इन्फेक्शन है जो ज्यादातर त्वचा को प्रभावित करता है कभी कभी यह सिर पर हो जाता है। दाद वाले क्षेत्र को प्रभावित करने वाले दाद को “टिनिआ क्रुरिस (tinea cruris)” कहा जाता है पैरों को प्रभावित करने वाले दाद को “टिनिया पेडीस (tinea pedis)” कहा जाता है दाद के प्रकार के आधार पर लक्षण भिन्न होते हैं; हालांकि आम लक्षणों में खुजली लाल, scaly पैच शामिल हैं जो blistering और oozing के कारण हो सकते हैं।

खुजली होने के कारण – Causes of Itching Skin in Hindi

Dry skin वाले लोगों को खुजली की शिकायत ज़्यादा होती है। उन्हें temperature अनुकूल नहीं मिलने की वजह से भी परेशानी होती है। गर्मी में अधिक गर्मी होने से हर टाइम पसीना आता रहता है। बाहर से घर लौटने पर सारा शरीर पसीने से भीगा होता है। लेकिन AC, पंखे या कूलर की ठंडी हवा से कुच्छ देर में पसीना सुख जाता है। उस सूखे हुए पसीने के जाम जाने से शरीर में खुजली होती है। जाड़े में सर्द हवा होने से जब स्किन शुष्क होकर फटने लगती है जिस वजह से खुजली की प्राब्लम होती है। वही गर्मी में घमोरिया इसका एक प्रमुख कारण है।

  • Skin की बीमारी और culture आमतौर पर स्किन की बीमारियां खुजली आरम्भ करती है।
  • मसलन- dermatitis – स्किन की सूजन
  • Eczema – स्किन का क्रोनिक रोग है जिसमें खुजली, चकत्ते और स्किन रेसेज होता है।
  • Psoriasis – यह human system कमजोर होने जाने के कारण होता है. इसमे skin लाल हो जाती है और जलन का भी अनुभव होता है।

पूरे शरीर में खुजली का कारण

  • पेशाब करने के बाद सॉफ पानी से शरीर को सॉफ नहीं किया जाए तो जीवाणुओं के संक्रमण से खुजली होती है।
  • कुछ महिला या पुरुष के सिर में बालों में जुए हो जाती है तो भी खुजली होती है।
  • मधुमेह रोगियों में जननांगो के आस-पास खुजली होती है।
  • खुजली के लक्षण – Symptoms of Itching Skin in Hindi
  • शरीर में खुजलाहट कभी भी हो सकती हैं।
  • सीढ़ियां चढ़ते समय, पैदल यात्रा करने में या एन्वाइरन्मेंट में ज़्यादा गर्मी या भपक होने पर ज़्यादा खुजली होती है।
  • शुरू में हल्की खुजली होती है और ज़ोर से खुजलाने पर स्किन लाल हो जाती है।
  • स्किन पर फुंसिया निकल आती है।
  • कमर, छाती, बगल, जाँघो और नाभि के आस-पास खुजली अधिक होती है।
  • शरीर के किसी पार्ट्स में फुंसिया या चेहरे पर मुँहासे होने पर खुजली होती है।

खुजली की इलाज के घरेलू उपचार – Home Remedies of Itching Skin in Hindi

  • Skin को hydrate रखने के लिए moisture का इस्तेमाल करें।
  • बेकिंग सोडा, खुजली की problem को कम करता है।
  • Anti itching OTC cream इस्तेमाल कर सकते है।
  • Blood infection से खुजली होने पर नीं के पत्ते और काली मिर्च के दाने पीसकर पानी के साथ सेवन करे।
  • नीम के पत्तियों को पानी मे उबालकर, छानकर राहत नहाने से खुजली ख़त्म होती है।
  • नारियल के तेल मे कपूर मिलकर मालिश करने से खुजली से राहत मिलती है.
  • नीम के पेड़ पर पकई निबौली खाने से खुजली कम होती है.
  • सुबह-शाम टमाटर का रूस पीने से खुजली ख़त्म होती है.
  • डॉक्टर की सलाह से anti allergic दवाई ले.

खुजली से निपटने के कुछ नार्मल टिप्स

  • अधिक फल और सब्जियों का सेवन करें।
  • खुजली, डितेरगेन्त और पर्फ्यूम से दूर ही रहें।
  • जाड़े में रोजाना नहाने से पहले सरसों और तिल के तेल से मालिश करें .
  • चमेली के तेल में नींबू का रस मिलाकर मालिश करने के बाद नहाए।

खुजली का जड़ से इलाज

लहसुन

लहसुन में पाया जाने वाला एजोन, एक प्राकृतिक विरोधी कवक agent है जिसका उपयोग कई तरह के कवक संक्रमणों में किया जाता है। बालों के झड़ने के लिए लहसुन का उपयोग भी काफी लोकप्रिय हैं। यह एजेंट दाद के इलाज में सबसे बेहतरीन है। इसका सही उपयोग के लिए दो लहसुन में दो से तीन लौंग कुचलें, और इसे दाद पर लगा दें। चार पांच दिन तक इसका उपयोग करें जब तक दाद में थोड़ा सुधर न आ जाये।

नीम खुजली का रामबाण इलाज

नीम में मौजूद antiseptic और antibiotic  गुण होते है जो दाद, खुजली और विभिन्न त्वचा संक्रमणों के इलाज में मदद करता है। इसका सही इस्तेमाल के लिए नीम के पत्तों को बारीक़ पीसकर उनका रस एक कटोरे में रखें और उसे फिर दाद वाली जगह पर लगाएं। इसके अलावा आप नीम के तेल में थोड़ा नीबूं का तेल और थोड़ा एलो वेरा के जेल को भी मिलकर दाद पर लगा सकते है।

एक और तरीका है आप नीम के पत्तों को बारीक़ पीसकर उनका रस कटोरे में रखें और उसमे थोड़ा हल्दी पाउडर और तिल का तेल बराबर मिलाएं। प्रभावित क्षेत्र में इसे लगाएं, कुछ ही दिन में आपको फर्क नजर आने लगेगा।

दाद-खाज खुजली का घरेलू उपाय सेब का सिरका

सेब का सिरका अपने एंटीबायोटिक और कसैले गुणों की वजह से त्वचा के संक्रमण का इलाज करने के लिए लिए काफी बेहतर है। यह खुजली होने से भी बचाएगा, इसका सही उपयोग करने के लिए आप इसे रुई के इस्तेमाल से अपने दाद वाली जगहों में लगाएं, और जब तक आपको फर्क न लगे लगते रहें। कुछ ही समय में दाद सही होने लगेगा।

दाद खाज खुजली का बेस्ट मेडिसिन नारियल तेल

नारियल तेल में पाए जाने वाले उपचार गुणों में दाद के संक्रमण का उपचार करने में बेहद प्रभावी हैं। यह एक सरल घटक है जो आपके घर में पाया जा सकता है। तेल खुजली वाली त्वचा से काफी राहत देता है जबकि क्षेत्र को चिकना और नरम बनाते हैं। रात के समय सोने से पहले दाद वाली जगहों में नारियल तेल लगाएं और कुछ ही दिनों में राहत पाएं।

दाद खाज खुजली को जड़ से मिटाने की दवा एलोवेरा

त्वचा को संक्रमणों से बचने के लिए एलोवेरा रस पीने से काफी फायदा होता है। दाद, खुजली के लिए यह काफी अच्छा घरेलु इलाज है। इसका इस्तेमाल के लिए आप ताजे एलोवेरा से रस निकालें और अपने दाद वाली जगह पर लगाकर सो जाएँ। dusre दिन उठने के बाद साफ़ करके धो लें। जब तक दाद सही नहीं होते लगते रहें।

सिरका और नमक से पाएं दाद खाज खुजली से राहत

सिरका और नमक दोनों में फंगल संक्रमण से लड़ने काफी अच्छे होते हैं। इसलिए ये दाद से छुटकारा पाने के लिए बेहतरीन उपाय है। इसका सही तरीके से इस्तेमाल करने के लिए नमक और सफ़ेद सिरका को मिलकर paste बनायें और प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। सप्ताह में दो से तीन बार इसका उपयोग कर जल्दी ही दाद से रहत पाएं।

खुजली से छुटकारा पाने का इलाज कच्चा पपीता

पपीते में एंटीफंगल गन गन होते है जो फुफूद, दाद से रहत पाने का अच्छा नुस्खा है। इससे दाद सही करने के लिए आप दाद वाले जगह को अच्छे पपीते के टुकड़े से रगड़ें। रगड़ने के बाद 15 मिनट तक वैसे ही छोड़ दें और बाद में गर्म पानी से अच्छी तरह धो लें। कुछ दिनों तक इसका इस्तेमाल एक दिन छोड़कर करें। इसके अलावा आप ताजे पपीते के रस और सूखे पपीते के बीज के जरिये भी पेस्ट बना सकते हैं।

Lemongrass चाय skin itching के लिए

Lemongrass चाय खुजली को कम करने के लिए सबसे अच्छा उपाय है और आपको संक्रमण से छुटकारा दिलाता है। आपको एक दिन में तीन बार Lemongrass चाय का एक गिलास पीने की ज़रूरत है। आपको एक साथ अंगूठी कीड़ा पर प्रयुक्त चाय बैग लागू करने की आवश्यकता है इससे आपके जीवन में बहुत राहत आएगी।

इसके अलावा आप प्रभावित क्षेत्र पर lemongrass teabags, lemongrass आवश्यक तेल या lemongrass के पत्तों और छाछ के पेस्ट लागू कर सकते हैं।

दाद खाज खुजली दूर करने के लिए Jojoba तेल और Lavender तेल

दाद के कीड़े से छुटकारा पाने के लिए आप केवल Lavender तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसमें मजबूत anti-fungal प्रभावी होते हैं। अध्ययनों से पता चला है कि लैवेंडर का तेल फूंगी को और विकास से रोकता नहीं है, लेकिन यह वास्तव में कवक को पूरी तरह से मारता है। इसका सही तरीके से इस्तेमाल के लिए आप Lavender तेल में Jojoba तेल मिलकर paste बनायें और कपास के जरिये दाद वाली जगहों पर लगाएं। इससे आपको काफी रहत मिलेगी।

दाद, खाज और खुजली से राहत पाने के लिए ये घरेलु नुस्खे काफी असरदार हैं। इनका सही तरीके से इस्तेमाल करें और कुछ ही समय में इस परेशानी से छुटकारा पाएं। अगर आपको शारीरिक या मानसिक परेशानी हो तो आप नीचे Comment Box के जरिये हमें अपनी समस्या share कर सकते हैं हमारे साथ बने रहने के लिए हमारे Facebook Page को लिखे करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here