बुखार में क्या खाएं और क्या ना खाएं – Diet Plan for Fever in Hindi

मौसम के बदलते ही आदमी को बुखार की समस्या होने लगती है। किसी को कम तो किसी को ज्यादा परेशानी होने लगती है। अक्सर बुखार होने पर हम डॉक्टर के पास तो चले जाते हैं और दवाई भी ले लेते हैं। लेकिन अस्पताल में इतने मरीज होने की वजह से डॉक्टर यह नहीं बता पता की हमें बीमार होने पर क्या खाना चाहिए और क्या नहीं।

बिमारी चाहे कोई भी हो चाहे बड़ी से बड़ी हो या छोटी हमें उसमे सावधानी रखनी बहुत जरूरी है। जब तक हम सावधानी नहीं रखेंगे तो बुखार इतनी जल्दी हमारा पीछा नहीं छोड़ता है। वैसे ज्यादातर बुखार में भूख भी नहीं लगती जिससे बुखार कम होने का नाम नहीं लेता है। जब तक हम कुछ नहीं खाएं तो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी नहीं बढ़ेगी और बुखार में सुधर नहीं होगा। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं बुखार में क्या खाएं और क्या ना खाएं (bukhar mein kya khana chahie).बुखार-होने-पर-क्या-खाना-चाहिए-What-to-Eat-in-Fever-in-Hindi-Fruits-Diet-Char-in-Hindi

बुखार होने पर क्या खाना चाहिए – Foods to eat in Fever in Hindi

जब भी मौसम बदलता है तो वायरल वाली बीमारियां आनी शुरू हो जाती हैं। जिसके लिए बहुत जरूरी है की हमारा खान-पान बहुत अच्छा होना चाहिए जिससे हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत रहे। हर एक रोग में सही खान-पान महत्वा रखता है और उसके फायदे भी होते हैं। बिमारी में न खाने से इंसान में कमजोरी महसूस होने लगती है।

ऐसा केवल ज्यादा बुखार की वजह से होता है, पाचन क्रिया का कमजोर होना और मुंह का स्‍वाद गायब होना। इस दौरान आपको ऐसे भोजन करने चाहिये जो टेस्‍टी भी हो और स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक भी। बुखार चढ़ने पर ऐसे भोजन करें जो शरीर को राहत पहुंचाए। हम आज fever me kya khana chahiye की बात करेगें।

ज्यादा से ज्यादा पानी पियें

बीमार होने पर शरीर में वैक्टीरया ज्यादा हो जाते हैं जिनके लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना बहुत जरूरी होता है। ज्यादा पानी पीने से रक्त कोशिकाओं की संख्या में बृद्धि होती है और ये अच्छे से काम करती हैं। इसके अलावा शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं साथ ही शरीर डिहाइड्रैशन के खतरे में भी नहीं रहता है।

बुखार के समय कम पानी पीने से बैक्टीरिया शरीर पर और ज्यादा प्रभावी हो जाते हैं इसलिए ज्यादा पानी पीने से ये शरीर पर फैलने से रुकते हैं और शरीर की क्रिया द्वारा मूत्र द्वार से बाहर निकल जाते हैं।

बुखार में फल ज्यादा खाएं

क्या आपको पता है बुखार में कौन सा फल खाना चाहिए? बुखार में ज्यादातर उलटी, पसीना, दस्त, बदनदर्द, सिरदर्द की समस्या बनी रहती है जिनके लिए फलों का सेवन करना बहुत फायदेमंद रहता है। ताजे फलों में आप संतरे, तरबूज, पपीता, केला, कीवी, सेब जैसे फल खा सकते हैं। इन फलों में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर होता है। आप चाहें तो इन फलों के जूस भी पी सकते हैं।

हरी सब्जियां खाएं

बुखार में आप शरीर को ताकत देने वाली चीजे ही खाएं इसके लिए हरी सब्जियां खाना बहुत ही फायदेमंद होता है। हरी सब्जियों में आप पालक, मेथी, टमाटर, शिमला मिर्च, भिंडी खा सकते हैं। आप चाहे तो शाकाहारी सूप भी पी सकते हैं। हरी सब्जियों में विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर होता है जो शरीर को नयी ऊर्जा देते हैं।

दलीय खाएं

बुखार में जितना हो सके तारावती भोजन करें क्यूंकि भरी भोजन करने को मन भी नहीं करता है। वैसे भी दलीय में बहुत ताकत होती है यह प्रोटीन और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होता है जो हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूती देता है। इसके अलावा आप पतली नमकीन खिचड़ी भी खा सकते हैं।

मूंग की दाल खाएं

मूंग की दाल कई बिमारियों को जड़ से मिटने में मदद करता है और जब आप बुखार से पीड़ित हों तो यह एक अमृत के सामान काम करता है। आप हल्का गाढ़ा सूप की तरह इसे बनाकर पी सकते हैं आप चाहे तो रोटी के साथ इसे खा सकते हैं। बुखार में यह सबसे अच्छा आहार है।

चिकन सूप पियें

बीमार से पीड़ित व्यक्ति के लिए चिकन सूप पीना बहुत ही लाभकारी होता है। चिकन सूप को पीने से बुखार के बैक्टीरिया जल्दी नष्ट हो जाती हैं शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है। आप चाहे तो चिकन न खाकर इसके सूप को ही पियें तो और बेहतर होता है।

प्रोटीन वाले पदार्थ खाएं

बुखार को दूर करने के लिए प्रोटीन युक्त भोजन सबसे अच्छा आहार होता है। ऐसा करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। इसके लिए आप दूध, दही, अंडे का सेवन कर सकते हैं। क्यूंकि इनमे प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है। ये शरीर में सफ़ेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ने में मदद करते हैं।

बुखार में क्या नहीं खाना चाहिए – Foods to Don’t eat in Fever in Hindi

ये तो हम आपको बता चुके हैं कि बुखार में क्या खाना चाहिए तो अब हम आपको बताने जा बुखार होने पर क्या नहीं खाना चाहिए। बहुत सारे ऐसे खाद्य अपदार्थ होते हैं जो हमें बुखार होने पर नहीं खाने चाहिए जिससे हमारा बुखार जल्दी से जल्दी सही हो जाये।

संक्रमित भोजन करने से बचे 

बुखार एक संक्रमण है जिसमें कई विनाशकारी बैक्टीरिया हमारे शरीर में घुसते रहते हैं और शरीर को हानि पहुंचते हैं। अब यह बहुत जरूरी है की इस संक्रमण का सही तरह से निषेध किया जाए। आप जब भी फल खाएं उन्हें अच्छी तरह से धो कर खाएं, एक बार काटे गए फल को उसी समय खा लेना चाहिए क्यूंकि इससे काटे गए फल पर ज्यादा बैक्टीरिया आकर बैठ जाते हैं। बांसी भोजन करने से बचें।

बुखार में जंक फूड नहीं खाएं

बुखार में कभी भी जंक फ़ूड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। सबसे ज्यादा बिमारियों की जड़ आजकल ये जंक फ़ूड ही होते हैं। मोटापे से लेकर बड़ी बड़ी बिमारियों को बढ़ावा देने में जंक फ़ूड आगे होते हैं। जंक फ़ूड के अलावा आप कोल्ड्रिंक भी पीना बंद कर दें।

बुखार में चाय नहीं पियें

बुखार में चाय नहीं पीने चाहिए क्यूंकि इसमें कैफीन बहुत अधिक होता है जो जहर के सामान वार करता है। यह दवाई के असर को कम करती है। चाय पीनी ही है तो आप तुलसी की चाय, काली चाय या अदरक की चाय पियें। ये आपको पीने में थोड़ी अजीब लगेंगी लेकिन साधारण चाय के मुकाबले ज्यादा फायदेमंद होती हैं।

एलकोहल से बचें

शराब, बियर पीना तो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते ही हैं अगर आप शराब पीते भी हैं तो बुखार के समय कभी भी नहीं पियें। यह शरीर के तापमान को बदल देता है जिससे शरीर की इम्युनिटी सिस्टम कमजोर हो जाती है और शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here