आलूबुखारा के फायदे और नुकसान – Aloo Bukhara (Plums) Benefits and Side effects in Hindi

आलूबुखारा खाने से बेहतरीन फायदे सेहत के लिए aloo bukhara (Plum) Health Benefits in Hindi आलूबुखारा फल खाने में जितना स्वादिष्ट है उतना ही स्वास्थ्यवर्धक भी है। यह फल ताजे खाने और सुखाकर खाने पर भी स्वास्थ्य के बहुत लाभ वाला है। इस फल के सेवन से उच्च रक्तचाप पर नियंत्रण रखा जा सकता है। आलूबुखारा सेहत के जरूरी पोषक तत्वों जैसे विमटाइन्स और मिनरल्स से भरपूर होता है। आलूबुखारा में मौजूद फाइबर शरीर के अंगों को सुचारु रूप से चलाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह पाचन तंत्र को मजबूत करने के साथ-साथ खूबसूरती को भी बढ़ने में मददगार है। इस फल के सेवन से कई फायदे हैं जिनके बारे में हम आज आपको बताने जा रहे हैं।  

सेहत के लाभकारी आलूबुखारा में आयरन की उच्च मात्रा होती है जिससे यह हड्डियों की कमजोरी को दूर करने के साथ-साथ शरीर से वसा की मात्रा को घटने में मदद करता है। इस फल से शरीर को बहुत लाभ है इसलिए जब भी यह फल आपको बाजार में दिखे तो खाने में चूकना मत।

आलूबुखारा के फायदे – Plum Fruits Benefits in Hindi

आलूबुखारा के फायदे कैंसर रोग रोकने में मदद करे

आलूबुखारा कैंसर का बिरोधी है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और अन्य ऐसे पोषक तत्वा होते हैं जो कैंसर और ट्यूमर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोक देती हैं। आलूबुखारा पाए जाने वाला बिता कारटोनेस शरीर में कैंसर होने से बचता है। इसके नियमित सेवन से फेफड़ों एवं मुँह के कैंसर से निजात पाया जा सकता है।

आलूबुखारा खाने से लाभ हृदय रोग से बचाये

हृदय से समन्धित रोगों जैसे दिल का दौरा रोगों को दूर करने के लिए आलूबुखारा का सेवन बहुत लाभदायक होता है। इसमें मौजूद विटामिन के शरीर में रक्त को जमने नहीं देता है और खून को लगातार सही मात्रा में शरीर के अंदर संचारित करता है। इसमें मौजुद पोटेशियम हार्ट अटैक जैसी बिमारियों से लड़ने में सक्षम है। इसमें भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 होता है जो दिल को स्वस्थ रखता है।

आलूबुखारा के गुण पाचन क्रिया को मजबूत करे

आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जो पेट के पाचन क्रिया को मजबूती देता है। इसमें मौजूद सर्वीटॉल और ईसाटिन होता है जो पाचन तंत्र को सशक्त करने में मदद करता है। इसमें मौजूद फाइबर के कारण पेट में भारीपन नहीं होता है जिससे आँतों को भी आराम मिलता है।

आलूबुखारा फल का सेवन वजन को कंट्रोल करे

जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं तो उन्हें आलूबुखारा का सेवन करना चाहिए क्यूंकि इसमें फैट की मात्रा कम होती है जिससे यह शरीर में फैट को बढ़ने नहीं देता है। इससे शरीर का वजन नियंत्रित रहता है। इसके सेवन से ज्यादा भूख लगने की समस्या से भी बचा जा सकता है।

पल्म फ्रूट्स बेनिफिट्स प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करे

आलूबुखारा फल में विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है। जो शरीर को स्वस्थ बनाने में कारगर होता है। जिन व्यक्तियों को सर्दी-जुकाम की शिकायत होती है उन्हें इस फल को जरूर खाना चाहिए। इस फल के सेवन से आपके शरीर में विटामिन सी की कोई कमी नहीं होगी जिससे आपकी इम्युनिटी पावर मजबूत होगी।

आलूबुखारा खाने से फायदे कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करे

अगर आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो जाती है तो बिमारियों का आगमन होने लगता है इसलिए बहुत जरूरी है कि आप इस फल को खाएं। इसमें मौजूद सल्यूबल फाइबर होता है जो शरीर में बढ़ने वाले कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है साथ ही आँतों को भी दुरस्त बनाता है। आलूबुखारा शरीर में बाईल की मात्रा को बढ़ाता है, जिससे मोटापा कम होने के साथ ही कोलेस्‍ट्रॉल को भी कम करने में मदद करता है।

आलूबुखारा फल का उपभोग आँखों के लाभकारी

आलूबुखारा में विटामिन ा भरपूर होता है जो आँखों की दृष्टि और स्वस्थ रखने में मददगार होता है। इसके सेवन से आँख की श्लेष्मा झिल्ली स्वस्थ रहती है। इसमें पाया जाने वाला महत्वपूर्ण पोषक फाइबर जिया एक्साथिन आँख की रेटिना को मजबूत बनता है। साथी ही यह हानिकारक युवी किरणों से भी आँखों की सुरक्षा करता है।

आलूबुखारा हड्डियों के लिए लाभकारी

आलूबुखारा में विटामिन के होता है जो शरीर के हड्डियों को मजबूती देने में अहम् भूमिका निभाता है। इससे आपके हड्डियों के जोड़ों में कोई दर्द नहीं होता है। महिलाएं इसका उपयोग जितना ज्यादा कर सकते हैं करें, एक शोध से पता चला है इसमें मौजूद विटामिन के महिलाओं के मीनोपॉज़ पर कोई भी नुकसान नहीं पहुँचता है।

आलूबुखारा के स्वास्थ्य लाभ शुगर को नियंत्रित करे

आलूबुखारा के सेवन से शरीर में शुगर की मात्रा नहीं बढ़ती है इससे रक्त में शुगर की मात्रा नियंत्रित रहती है जिससे मधुमेह जैसे रोग से बचा जा सकता है। जिन लोगों को शुगर की समस्या हो वो लोग इसका सेवन कर सकते हैं।

आलूबुखारा फल एंटी-ऑक्‍सीडेंट की मात्रा भरपूर

आलूबुखारा में एंटी-ऑक्‍सीडेंट भरपूर मात्रा में होती है। इसमें पॉलीफोनिक एंटी – ऑक्‍सीडेंट जैसे – ल्‍यूटिन, क्राइप्‍टोएक्‍थिन और जिया एक्‍साथिन होते है जो हानिकारक ऑक्‍सीजन द्वारा उत्‍पादित फ्री रेडीकल्‍स को समाप्‍त कर देता है। इसके सेवन से बॉडी, आरओएस कम्‍पाउंड से बचती है जिससे कई बीमरियां नहीं होती है।

आलूबुखारा खाने से नुकसान – Aloobukhara khane se Nuksan in Hindi

  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो आलूबुखारा का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से परामर्श जरूर करें।
  • आलूबुखारा में ऑक्‍सीलिक एसिड होता है जो स्‍वाभाविक रूप से घटित पदार्थ (occurring substance) होता है जो मूत्र पथ में ऑक्‍सालेट पत्‍थरों के रूप में क्रिस्‍टलाइज कर सकता है यदि इसका अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *