अपने सम्मान में कैसे सुधार लाएं आत्मसम्मान बढ़ाये

आदमी के पास आत्मसम्मान ही एक ऐसा चीज है जिसे वह मरने के बाद भी जिन्दा रखकर जाता है। आदमी का चाहे शान-शहरोत सब कुछ मिट जाये लेकिन सम्मान रहे तो हर किसी को गर्व रहता है। दुसरो के बीच आपका सम्मान हो आपको सम्मान से पुकारा जाये। ये सब बातें तभी होती है जब मनुष्य के द्वारा किये गए कार्य सभी लोगो को पसंद हों। हर कोई चाहता है कि उसे 4 लोगों के बीच हो या हर कही सम्मान मिले। लेकिन कोई ये नहीं चाहता है कि किसी को सम्मान दिया जाये। तो चलिए आज हम आपको बताने जा रहे है कैसे अपने आत्मसम्मान को बढ़ाएं और कैसे दुसरो के बीच सम्मान प्राप्त करें।  आत्मसम्मान कैसे बनायें - Respect से जीयें Self Stream kaise improve karen in Hindi

सम्मान कैसे पाए जानें 10 तरीके

जिस प्रकार सेल्फ-कॉन्फिडेंस हमारी जिंदगी को सफल करने में अतुल्य भूमिका निभाता है उसी तरह हमें अपने सम्मान के लिए जरूरी है की दुसरो को भी सम्मान दिया जाये। मरिया रॉबिन्स ने कहा भी है कि एक आत्मा सम्मान आपको नयी शुरआत दे सकता है, जो की अंत तक आपके साथ रहता है। सम्मान से आपको ये फायदा है की आपके मरने के बाद भी लोग आपको आपके काम नाम से रोजाना याद रखते है। आप लोगों के दिल में बस जाते हैं।

1. दूसरों की respect जरूरी 

अगर आप चाहते हैं की हर कोई आपकी रेस्पेक्ट करे और लोगों के बीच आपकी इज्जत बने तो ख्याल रखे की पहले आपको दुसरो की इज्जत करना सीखना पड़ेगा। जब तक आप दुसरो की इज्जत नहीं करेंगे तो कोई भी आपकी इज्जत नहीं करेगा। यकीन मानिये कि जब आप किसी की इज्जत करेंगे तो यक़ीनन वह भी आपकी इज्जत आपके सामने ही नहीं आपकी अच्छी बातें दुसरो को भी बताएगा। जिससे 10 लोगों के बीच आपका सम्मान बढ़ेगा।

2. दुसरो की मदद करें

सम्मान पाना इतना आसान नहीं है, लेकिन इतना कठिन भी नहीं। सम्मान पाने के लिए कभी भी घमंड में नहीं रहें। हर किसी चाहे गरीब हो या अमीर इंसान सहायता करने में पीछे नहीं हटिये। अगर कोई इंसान आपका सम्मान कर रहा हो तो इसका मतलब ये भी हो सकता है की आपने कभी उसकी मदद की हो। वैसे मदद करना कोई पाप नहीं है यह चाहे आपको उस समय कुछ नहीं दे लेकिन इसका फल आपको एक न एक दिन जरूर मिलेगा। इसलिए जब भी आपको मौका मिले अपने से बड़ो छोटों की मदद जरूर करें, और सम्मान पाएं।

3. माफ़ करना और माफ़ी मांगना

माफ़ करना भी सम्मान से कम नहीं है। आत्मसम्मान और आत्मविश्वास दो ऐसी जिंदगी की कड़ी हैं जो खुद बनायीं जाती है ये दुसरो के बलबूते से नहीं बनती। अगर किसी कारणवश गलती से आपको पीड़ित करता है और आपसे माफ़ी मांग रहा है तो उसे माफ़ करें। ye नहीं की आप भी उसे उसी की भाषा में जबाब दे रहे है। अक्सर कभी कबार आदमी से गलती हो जाती है। अगर गलती होने के बापजूद वह आपके सामने हाथ जोड़ रहा है तो उसे माफ़ करें, और अगर आपने उसे माफ़ कर दिया तो वह आपके सम्मान के बारे में किसी और को बताने के लिए पीछे नहीं रहेगा।

4. किसी को नीचे नहीं दिखाओ

किसी भी व्यक्ति चाहे वह गरीब हो या किसी कारणवश हारा हुआ हो तो उसे नीचे मत दिखाओ। उसे दुखी करने की वजाय आप उसका सहयोग करो। जिस भी इंसान में यह गन होता है वह हमेशा उनके दिलों में राज करता है। इसलिए अगर आप अपना सम्मान बनान चाहते है तो दुसरो की बेइज्जती नहीं करें, क्यूंकि यह कलयुग है और यहाँ पाप करने वाले को भी यही दंड मिल जाता है और पुण्य करने वाले को पुण्य।

5. सकारात्मक तरीके से गलतियों और विफलताओं को संभाल लें

यदि आप सही कार्य कर रहे हैं और कुछ हासिल करने का प्रयास कर रहे है तो पक्का है की आप कई ठोकरे खाओगे कई रास्तो में गिरोगे। किसी गलती से अगर आपका दोस्त या आपके माता-पिता आपसे रूत गए हो तो उनमे मानना जरूरी है क्यूंकि आत्मसम्मान की कमी तब भी आती है जब आप अपनों के साथ सही व्यवहार से नहीं रहे तो लोग सोचते है है हमारे साथ कैसे यह सही व्यय्हार कर सकता है। गलतियां तो भगवान से भी हो जाती हैं, तो आप तो इंसान ही हैं। इसलिए किसी को नीचे या गलत न बोले।

6. तुलना करना बंद करें

किसी के साथ अपने को तुलना करना या किसी को कहना कि तेरी क्या औकात है, तू मेरे जैसा बन के दिखा, ये सब तुलना करना अच्छी बात नहीं है। चाहे व्यक्ति आपकी तरह नहीं बन सके लेकिन आपके विषैले शब्द वह कभी भी नहीं भूल सकता है। और यकीन मानिये कभी न कभी वह आपकी बेजत्ती भी कर सकता है। इसलिए अच्छा है की आप उसकी क़द्र करें उसकी मदद के लिए तैयार रहें।

7. सहायक लोगों के साथ अधिक समय व्यतीत करें।

उन्ही लोगों के साथ उठें बैठे जो आपकी कदर और आपके सहायता के लिए तैयार रहते हों। अपनी पहचान बनाने के लिए आपको सकारातमक और अच्छे विचार वाले दयालु इंसानो के बीच उठक बैठक रखें। उनसे आपको काफी कुछ नया सिखने को मिलेगा साथ ही कैसे किसी का आदर करना होता है। कैसे आप सम्मान पा सकते है सब कुछ पता चलेगा। इसके अलावा आप अच्छी किताबें या कोई अच्छा प्रेरणादायक शो देखें।

8. सभ्यता से बोलें

सम्मान पाने का सबसे अच्छा तरीका यह है की आप चाहे बड़ा हो या छोटा उसे सभ्यता से बोलें। इससे न सिर्फ वह आपको बोलेगा इसके अलावा आपकी छवि उसके दिमाग में बनेगी। सही तो है अगर आप किसी से सभ्यता से बोलते है और गलत बोलने में भी आपका मुँह उतना ही खुलेगा तो क्यों गलत बोलकर खुद को ख़राब करना और अपना सम्मान को कम करना। ये सब कुछ आपकी बाणी को भी मधुर करता है।

9. सही चीज़ करना

जब आप अपने दिमाग में गहराई से सोचते है की क्या करना सही है और क्या गलत तो आप अपने आत्मसम्मान को बढ़ा और मजबूत कर सकते हैं। हमेशा यह जानना आसान नहीं है की कौन सा काम सही है और कौन सा गलत लेकिन इसका अच्छा परिणाम पाने के लिए आप बारिकता से सोच सकते हैं।

10. साफ और सुधरे रहें

आजकल के दौर में साफ और सुन्दर दिखना भी अपने आप में सम्मान के बराबर है। हर कोई आजकल खूबसूरत और फिट होकर सम्मान पाते है। अगर आप नहा धोकर अच्छे कपडे पहनकर कही भी जाते है तो कोई भी आपको गलत न कहकर अच्छे से आदर से पुकारता है। इसलिए साफ़ रहना आपके शरीर के लिए अच्छा ही है तो क्यों न अच्छे कपडे पहनकर दुसरो को भी लुभाया जाय।

तो दोस्तों ये हैं आत्म सम्मान पाने के बेहतरीन तरीके जिनकी मदद से आप दूसरों से काफी इज्जत पा सकते है। लोगों के दिल में अपनी जगह बना सकते हैं। अगर आपको इसके अलावा कुछ भी पूछना हो तो आप नीचे कमेंट box के जरिये हमसे जुड़ सकते है। और भी नयी बातों के लिए हमारे Facebook Page को Like करें।

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *