दोस्ती में धोखा मिले तो क्या करें?

जहाँ पर रिश्ते की बात आती है वहां दोस्ती सबसे अहम् होता है क्यूंकि यह दोस्ती का रिश्ता जन्म लेने से नहीं होती यह तो हो जाती है। दोस्ती एक ऐसा रिश्ता है जिसमे न हमारा खून एक होता है न कोई बिरादर लेकिन फिर भी दोस्त को सबसे बड़ा रिश्ता माना जाता है। कोई भी परेशानी, मजे लेने, दिमाग शांत करने, समस्या का समाधान करने के लिए हम हर समय दोस्त को चुनते हैं। लेकिन कई बार बाहरी समस्या की वजह या कोई मुठभेड़ होने से दोस्तों में झगड़ा हो जाता है। इसी बीच हमारे एक friend ने हमें पूछा था की Dosti me Dhokha Mile To Kya Karen? असल में दोस्त धोखे तो नहीं देते हैं लेकिन कोई गलतफहमी की वजह से दोस्ती में दरार आ जाता है आइये क्यों आती है दोस्ती में दरार और कैसे दोस्त से मिले धोखे निजात पाएं।  दोस्ती में धोखा मिले तो क्या करें Dost Dhokha De to Kya Karna Chahiye

दोस्ती में धोखा मिले तो क्या करें

असल में दोस्ती में धोखा नहीं मिलता, कभी कभी मनमुटाव हो जाता है या कोई ग़लतफ़हमी हो जाती है। लेकिन हमें कभी भी दोस्त को धोखा नहीं देना चाहिए। क्यूंकि दोस्त के बिना दुनिया अधूरी है। दोस्ती में धोखा कई कारणों से हो सकता है, आपस में झगड़ा, गर्लफ्रेंड/बॉयफ्रेंड, अधूरे मन से दोस्ती, इधर की बात उधर ऐसे ही बहुत कारण हो सकते हैं। अगर आप लड़की के चक्कर में एक दूसरे को धोखा दे रहे हैं तो आपसे बड़ा चूतिया कोई नहीं है। क्यूंकि दोस्ती में धोखा तब ही मिलता है जब कोई लड़की/लड़का आप दोनों के बीच आ जाती है। लेकिन अगर आपके दोस्त ने आपको धोखा दिया है तो ये टिप्स अपनाओ।

छोटी परेशानी

धोखा दो तरह से हो सकता है एक हम छोटे छोटे बातों को लेकर एक दूसरे से ईर्ष्या करते है तो परेशानी ज्यादा बढ़ने से धोख़ापन आ जाता है। जो की ज्यादा बड़ी नहीं होनी चाहिए क्यूंकि दोस्ती में छोटे-मोठे परेशानियां तो आती ही हैं। वैसे अगर आपका छोटा मोटा मनमुटाव हो तो आप दोनों को कुछ न कुछ तो फीलिंग होती है कि मैं गलत था वह सही था। इस परेशानी आप थोड़े ही दिनों में सही कर सकते हैं। क्यूंकि उस दोस्त ने एक बार आपको धोखा दिया होगा लेकिन कितनी बार वह आपके साथ में होगा। इसलिए इस दोस्ती को जितनी जल्दी फिर से मिला लो तो बेहतर होगा। और आप दोनों भी ख़ुशी से रहोगे, आपके दिल फिर से खुल जायेगा।

बड़ी परेशानी

बड़ी परेशानी तब ही होती है जब आप दोनों के बीच लड़की या लड़का जाए तो। लड़की/लड़का का आना मतलब दोस्ती में दरार होना। अगर आपके साथ भी ऐसा ही हुआ है तो आप इस बात को छोड़ सकते हो कि लड़की/लड़का जिसकी भी हुई था तो अपना ही। अगर आपको लगता है कि उसने मुझे बहुत बड़ा धोखा दिया है और उससे दूर रहना चाहता हूँ तो नीचे दिए गए टिप्स अपनाएं।

1. मनमुटाव को हटाएँ

हम आपको एक सुझाव देंगे कि अगर आपका दोस्त कितना भी रूठा हो या आप उससे रूठे हो फिर भी इस मनमुटाव को हटा दें। अगर दोस्ती गहरी है तो पक्का आप एक दूसरे से अलग तो होंगे लेकिन दिल ही दिल में पास। और ये सोचो कि क्या रखा है है इस दुनिया में अगर दोस्तों के साथ मजे ही नहीं करना तो। दोस्त हर पल के यार है।

2. सच्चाई को स्वीकार करें

आपकी दोस्ती चाहे कितनी भी मजबूत थी बेशक वह आपके जिंदगी का हर पल में आपके साथ था लेकिन अब हकीकत कुछ और है। अगर आपको लगता है की आपका दिल कतापी टूट गया है उसकी दोस्ती से तो आपको अब सच्चाई स्वीकार कर लेनी चाहिए। की वह आपके दिल में कभी जगह नहीं ले सकता है वह आपके दोस्त लायक है ही नहीं। वह आपके जीवन में कभी वापस नहीं आ सकता है। इसलिए उसकी दोस्ती जल्द से जल्द भुला दें और अपनी एनर्जी, अपना समय, ध्यान अपने सपनो पर लगाओ जिससे आप आगे कामयाब होकर बेहतर ज़िन्दगी जी पाओ।

3. उससे जुड़ी हर चीज को delete कर दें

जब वह आपको छोड़कर चला ही गया है तो उससे जुडी चीजे अपने पास रखने से क्या फायदा। जो कि आपको बार-बार उसकी दोस्ती के बारे में बताएगी। इसलिए अगर आपके पास उसकी कमीज, गिफ्ट्स या ईमेल, कांटेक्ट नो, मैसेज हो तो डिलीट कर दें। आपको थोड़ी तकलीफ तो होगी लेकिन आने वाले समय में बहुत फायदा होगा और आप उसकी दोस्ती को भूल जायेंगे।

4. उसके जाने अफ़सोस ना करें

दिल तोड़कर जाने वाले का क्या अफ़सोस करें? अफ़सोस तो उसका किया जाता है जो आपकी भावनाओं को समझे, आपको खुशियाँ दे। जो आपकी भावनाओं के साथ खेलकर, आपको धोखा देकर, आपको दर्द ही दर्द देकर गया हो, ऐसे साथी का क्या अफ़सोस करना? वो आपके लायक था ही नही। इसलिये वो आपकी भावनाओं को नहीं समझ सका, आपके दोस्ती को नहीं समझ सका। इसलिये ऐसे धोखेबाज को दिलों दिमाग से निकाल कर फेंक दो। और अफ़सोस करने के बजाय अपने आपको मजबूत बनाओ और जिन्दगी में आगे बढ़ो।

5. अकेले न रहें, दोस्तों के साथ रहें

जरूरी नहीं की आपका एक ही दोस्त हो। तो क्या हो गया एक दोस्त ने आपको धोखा भी दे दिया हो। लेकिन आपके पास और दोस्त तो हैं जिनसे आप अपने दिल की बात शेयर कर दिल को हल्का कर सकते हैं। अकेले रहने से आपको उसकी दोस्ती याद आएगी। जहा भी वह हो इग्नोर करें। इससे उसे काफी दुख होगा और आगे किसी भी दोस्त को धोखा देने की नहीं सोचेगा।

6. बदला लेने की कोशिश ना करें

अगर आपकी दोस्ती सच में बहुत अच्छी है, तो यकीन मानिये वह आपको धोखा देने की कोशिश नहीं कर सकता है। क्या पता कोई मजबूरी हो उसकी वजह से। वैसे ज्यादातर धोखा तब ही होता है जब लड़की दोस्तों के बीच आ जाती है। लेकिन अगर लड़की आपके दोस्त से ही प्यार करती है तो आपको इस बात का कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। इसके बारे में थोडा positive होकर सोचें। और कभी भी उसका बुरा ना करें। अगर वो धोखेबाज है, तब भी उसका कुछ भी बुरा ना करें और ना ही उससे कभी बदला लेने की कोशिश ही करें। अगर वह बुरा बन ही गया, आप बुरे मत बनो। जो जैसा किसी के साथ करता है कभी ना कभी उसके साथ भी वैसा ही होता है। धोखा देने वाला कभी खुश नहीं रहता। उसके किये की सजा ईश्वर उसे जरुर देगा। एक दिन उसे खुद ये एहसास होगा कि आपको छोड़कर उसने कितनी बड़ी गलती की है। एक दिन वो ये जरुर महसूस करेगा कि उसने क्या खोया है।

7. नशे से दूर रहें

जब कभी भी सच दोस्त हो या सच्चा प्यार छोड़कर चला जाता है तो अक्सर हम नशा करना शुरू कर देते है। हम सोचते है कि यह हमारे टेंशन को दूर कर देगा। रात को नशा करके आप सो तो सकते हैं पर अगली सुबह वही समस्यायें, वही परिस्तिथियाँ आपके सामने रहेंगी। नशा करने से समस्यायें और बढ़ जाती हैं और परिस्तिथियाँ और बदतर हो जाती हैं। और आपके अन्दर एक गलत आदत और बढ़ जाती है जो आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा, आपके स्वास्थय और आपके परिवार के लिए भी बहुत हानिकारक होती है। नशा करके व्यक्ति को और ज्यादा निराशा होती है उसके दिमाग में और ज्यादा नकारात्मक विचार आते हैं। और नशे में वह कोई गलत कदम भी उठा सकता है। इसलिए नशे से सदा दूर रहें।

8. Positive सोच रखें

अगर उसने आपका दिल तोड़ा है, आपको धोखा दिया है और आपको छोड़कर चला गया है या चली गई है तो इसका मतलब है कि वो शख्स आपके लायक था ही नहीं। अगर वो आपके लायक होता और आपको समझता तो कभी आपको छोड़कर नहीं जाता। ये सोचें कि अच्छा हुआ जो उसकी असलियत जल्दी ही आपके सामने आ गई। वर्ना अगर शादी के बाद वो आपको धोखा देता या और कुछ समय बाद आपको धोखा देता तो तब आपको ज्यादा नुकसान उठाना पड़ता और ज्यादा दुःख उठाना पड़ता। इसलिये उसे दिमाग से निकालो तथा ये सोचों कि वो आपके लायक था ही नहीं। आपको आगे चलके उससे भी बेहतर मिलेगा। इसलिये आपनी सोच को हमेशा positive रखो।

हमारे द्वारा यही सलाह आपसे होगी आपस में एक दूसरे से ईर्ष्या करने से अच्छा है की एक दूसरे की बढ़ाई दूसरे ग्रुप में करें। इससे आपके दोस्त उस दोस्त को बताएँगे और अंदर ही अंदर आपका प्यार बढ़ेगा और एक दिन आप जरूर फिर से एक अच्छे दोस्त बन जाओगे। अगर आपके पास भी कोई राय है तो हमें कमेंट में जरूर बताये।

loading...

Comments (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *